अलीगढ़ की बहादुर दुल्हनियाः फेरों से पहले लौटाई बारात II देखें क्या है पूरा माजरा

अक्सर दहेज के लिए दुल्हन के घर से बारात लौटने की खबर सुनी और देखी होगी, लेकिन ऐसा कम ही सुना होगा जहां दुल्हन ने फेरों से पहले बरात वापस कर दी हो। जी हां, यह हैरान करने वाला मामला अलीगढ़ के क्वार्सी इलाके में सामने आया है। यहां एक शादी समारोह के दौरान लड़के वालों के मिजाज देखकर साहसी दुल्हन ने बारात लौटा दी। दरअसल, दूल्हा पक्ष सोने का मांग टीका न मिलने पर तमाम आरोप लगाने लगा, पांच लाख अतिरिक्त दहेज की मांग भी दोहरा दी। दुल्हन ये बर्दाश्त न कर सकी और ग्रेटर नोएडा के सोफ्टवेयर इंजीनियर से शादी करने से इन्कार कर दिया।
वीओ – क्वार्सी क्षेत्र के बेगमबाग निवासी चाय कारोबारी ने अपनी बेटी का रिश्ता ग्रेटर नोएडा के सोफ्टवेयर इंजीनियर के साथ तय किया। रामघाट रोड स्थित मैरिज होम में गुरुवार रात बारात आ गई। जयमाला, खाना-पीना हो चुका था। देररात तीन बजे फेरों का मुहुर्त था। बात तब बिगड़ी जब लड़के वाले मांग टीका मांगने लगे, जो लड़का पक्ष ने ही बनवाया था। लड़की की मां नीलम ने मांग टीका समेत सारे जेवर एक बक्से में रखे थे, जिसकी चाबी पर्स में थी। पर्स चोरी हो चुका था। सीसीटीवी कैमरा देखा तो एक लड़का पर्स ले जाते हुए दिखाई दिया। कंट्रोल रूम पर सूचना दी तो लैपर्ड पहुंच गई। इधर, लड़के वालों ने आरोप लगाने शुरू कर दिए। कहने लगे कि ये सब नाटक है, जेवर देना नहीं चाहते, शादी में खर्चा कम किया है। पांच लाख रुपये की और डिमांड कर दी। विवाद बढ़ने लगा। बाराती, घराती आमने-सामने आ गए। इसी बीच दुल्हन ने लड़के वालों को खरी खोटी सुनाते हुए शादी से इन्कार कर दिया। कह दिया कि बारात वापस ले जाओ, वो ऐसे परिवार में शादी नहीं करेगी, जहां बहू से ज्यादा दहेज को महत्व दिया जाता हो। हंगामे की खबर पाकर इंस्पेक्टर क्वार्सी राघवेंद्र सिंह पुलिस बल लेकर पहुंच गए। लड़की वालों ने बताया कि शादी में 15 लाख रुपये लगाया था, पांच लाख रुपये और मांगे जा रहे थे। आरोप-प्रत्यारोप के बाद इस बात पर समझौता हुआ कि लड़के वाले पूरा सामान, रुपया आदि वापस करेंगे। लिखित समझौते के बाद बारात वापस नोएडा लौट गई। इंस्पेक्टर ने बताया कि दोनों पक्षों में समझौता हो चुका है।
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com