आत्माओं का अड्डा बना एमबीएस अस्पताल !

कोटा से स्वप्निल खंडेवाल की रिपोर्ट

राजस्थाम के कोटा सम्भाग के सबसे बड़े अस्पताल एमबीएस आजकल आत्माओं का अड्डा बन गया है। यहां आत्माओं का बसेरा है। बुधवार को हुई दो घटनाओं से तो ऐसा ही नजर आ रहा है। अब इसे आस्था कहे या अंधविश्वास, इलाज के दौरान मौत होने के बाद भी परिजन मृतक की आत्मा लेने के लिए अस्पताल पहुंच रहे हैं। वो भी बाकायदा ढोल-नगाड़ों की थाप पर… नाचते-गाते हुए…पूजा-अर्चना करते हुए…बुधवार देर रात भी बिजौलिया कस्बे के निवासी मृतक की आत्मा को लेने पहुंचे। पहले परिजनों ने एमबीएस की पोर्च के बाहर जोत लगाकर पूजा की। उसके बाद आत्मा लेने इमरजेंसी वार्ड में पहुंच गए। परिजनों ने वार्ड में पूजा की और पानी का छिड़काव करते हुए आत्मा को साथ ले गए। करीब 10 मिनट तक ये खेल चलता रहा लेकिन वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने लोगों को रोकने की कोशिश नहीं की। इससे पहले बुधवार को ही दोपहर में भीलवाड़ा के बिजोलिया कस्बे से करीब 2 दर्जन महिला-पुरुष ढोल की थाप पर अस्पताल में मृतक की आत्मा लेने पहुँचे थे।  आपको बता दें कि एमबीएस अस्पताल में मृतक की आत्मा लेने के लिए आने की घटनाएं आम हो गई हैं। मीडिया में खबरें प्रसारित होने के बाद अस्पताल प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए, चौकसी भी बढ़ाई। उसके बाद भी आत्मा लेने के लिए लोगों के आने का सिलसिला जारी है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com