कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ गैंगरेप और मर्डर के मामले में बीसीआई ने पांच सदस्य टीम का किया गठन

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार टूडे

जम्मूकश्मीर के कठुआ जिले में आठ साल की बच्ची के साथ गैंगरेप और मर्डर के मामले में बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) ने पांच सदस्यीय टीम का गठन कर दिया है। बीसीआई के चेयरमैन मनन कुमार मिश्रा ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। इसके साथ ही बार काउंसिल के अध्यक्ष ने कहा है कि इस मामले में दोषी पाए जाने वाले वकीलों के लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे। बीसीआई चेयरमैन मनन कुमार मिश्रा ने कहा, 'बैठक में हम लोगों ने फैसला लिया कि 5 सदस्यीय टीम इस केस की जांच करेगी। यह टीम कठुआ और जम्मू जाकर लोगों से बार एसोसिएशन की प्रणाली के बारे में बात करेगी।' उन्होंने कहा, 'समिति अपनी रिपोर्ट बाक को सौंपेगी, जिसे बार काउंसिल ऑफ इंडिया 19 को सुप्रीम कोर्ट में प्रस्तुत करेगी। काउंसिल सुप्रीम कोर्ट से अतिरिक्त 2 दिनों का समय देने की अपील करेगी। एसोसिएशन ने जम्मू बार एसोसिएशन को तत्काल हड़ताल समाप्त करने का आदेश दिया है।' इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के कड़े रुख के बाद बार असोसिएशन कठुआ ( बाक ) ने बच्ची के साथ बलात्कार और उसकी हत्या के मामले के आठ आरोपियों का मुफ्त में मुकदमा लड़ने का अपना प्रस्ताव वापस ले लिया था। बाक अध्यक्ष कीर्ति भूषण ने कि एसोसिएशन ने इस मामले में मुफ्त में मुकदमा लड़ने के प्रस्ताव को वापस ले लिया है। आरोपी किसी भी व्यक्ति की सेवा लेने और अदालत में अपना बचाव करने के अधिकार का इस्तेमाल करने को स्वतंत्र हैं।' 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com