जबलपुर सिटी हॉस्पिटल के चिकित्सकों की लापरवाही आई सामने

जबलपुर से जेपी सिंह की रिपोर्ट

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में सिटी हॉस्पिटल के घोर लापरवाही के चलते एंजियोग्राफी कराने आए मरीज को डॉक्टरों ने वेंटिलेटर पर लेटा दिया और मरीज के परिजनों से अभद्रता करते हुए इलाज की फाइल और जानकारी देने से मना करते हुए अस्पताल से भगा दिया। मामला जबलपुर स्थित सिटी हॉस्पिटल का है, जहां 18 अप्रैल को सालीचौका निवासी सुरेश विश्वकर्मा को हार्टअटैक की शिकायत होने पर मरीज के परिजन उसे सिटी हॉस्पिटल में एंजियोग्राफी कराने ले गएय़ जहां डॉक्टर एस पी चंदेल ने मरीज को एडमिट कर परिजनों से रुपए रखने के लिए फर्जी इलाज शुरू कर दिया। इसी के चलते 20 अप्रैल की शाम को अचानक डॉक्टर चंदेल ने मरीज को वेंटिलेटर पर भेजने की जानकारी दी तथा कुछ देर बाद मरीज को मृत घोषित कर शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। शव लेने पहुंचे परिजनों ने जब हॉस्पिटल में इलाज का पूर्ण भुगतान कर इलाज के संबंध में जानकारी तथा ट्रीटमेंट फाइल मांगी तो डॉक्टर चंदेल तिलमिला उठे और मरीज के परिजनों से अभद्रता करने लगे। माहौल बिगड़ता देख परिजनों ने फोन पर पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी। इसके बाद मौक पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को ट्रीटमेंट फाइल उपलब्ध कराई, लेकिन मृत के परिजनों का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन द्वारा जो ट्रीटमेंट फाइल उपलब्ध कराई गई है उसमें कुछ दस्तावेज कम है। यदि अस्पताल प्रबंधन पूरे दस्तावेज उपलब्ध कराता तो सिटी हॉस्पिटल का मरीजों के साथ किया जा रहा फर्जीवाड़ा जगजाहिर हो जाता।  
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com