बाल सुरक्षा यूनिट ने की स्कूली वाहनो की जांच

मोगा से तन्मोय समंता की रिपोेर्ट

मोगा में स्कूली बच्चों के अभिभावकों द्वारा मिल शिकायत को लेकर जिला बाल सुरक्षा यूनिट मोगा की टीम ने मोगा ट्रेफिक पुलिस के साथ स्कूली बसों की जाँच की। जांच के दौरान स्कूली वाहनों में बहुत सी कमिया पाई गई।  इस दौरान अधिकारियों ने खामियां मिलने पर स्कूल प्रशासन को जमकर फटकार लगाई। उन्होने बताया कि मानयोग अदालत के नियमों के मुताबिक, स्कूली बसों का रंग पीला होना चाहिए औऱ उसपर स्कुल का नाम औऱ फोन नम्बर लिखा होना चाहिए। बस में कैमरे लगे होने चाहिए औऱ अगर लडकिया स्कुल जा रही है या स्कुल से घर वापिस आ रही है तो बस में एक महला कर्मचारी का होना आवश्यक है। इतना ही नहीं बस ड्राईवर और कंडक्टर के पास भी यूनीफार्म होनी चाहिए। इस दौरान उल्लंघन करने वाले बहुत से लोगों के चालान भी काटे गए। ट्रफिक पुलिस अधिकारी तरसेम सिंह ने बताया कि हमारी ओर से बहुत बार सेमीनार लगाकर स्कूली बसों के मालिको और ड्राइवरो कों इन सभी चीजो के बारे जानकारी डी जाती है। लेकिन सुधार नाम होने पर कई लोगों के चालान काटे गए है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com