बीजेपी के ‘संस्कारी’ साक्षी की सफाई

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार टूडे

बात करते हैं संस्कारों का ज्ञान बांटने वाले साक्षी महाराज की….जी हां…ईश्वर इस बात का साक्षी है कि चर्चा में रहना कोई बीजेपी के संस्कारी साक्षी से सीखे…कभी वे अपनी कथनी की वजह से सुर्खियां बटोरते हैं तो कभी अपनी करनी की वजह से विवादों में रहते हैं। इस बार अपनी करनी की वजह से सबके आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। भगवा कपड़े पहन कर अक्सर बिगड़े बोल बोलने वाले साक्षी ने इस बार भगवा पोशाक में ही एक नाइट क्लब का उद्घाटन कर दिया। विवाद बढ़ा तो अब सफाई देते फिर रहे हैं…खुद को संस्कारी बता रहे हैं। साक्षी महाराज के मुताबिक उन्हें पता नहीं था कि वो जगह नाइट क्लब है, उन्होंने रेस्टोरेंट समझ कर उद्घाटन किया था। लखनऊ के अलीगंज में लेट्स मीट क्लब का उद्घाटन करने के बाद साक्षी ने कहा कि उन्होंने किसी क्लब का उद्घाटन नहीं किया। उनके पास आमंत्रण रेस्टोरेंट के उद्घाटन का था। उनकी पार्टी के पूर्व महासचिव रंजन सिंह चौहान रेस्टोरेंट का उद्घाटन करने के लिए साथ लेकर आए थे। रंजन ने कहा था कि रेस्टोरेंट उनके दामाद का है, इसलिए वे उसका उद्घाटन करने के लिए राजी हो गए। उन्हें यह नहीं पता था कि वह वास्तव में बार और नाइट क्लब है।'  उन्हें मीडिया के माध्यम से पता चला…कोई कहता है नाइट क्लब है…कोई कहता है, हुक्का बार है। खुद को पवित्र इंसान बताते हुए साक्षी ने कहा कि साक्षी महाराज ने लिखा कि इससे उऩकी पवित्रतम छवि को बहुत ही गहरा नुकसान पहुंचा है। उन्होंने एसएसपी से अनुरोध किया कि इस तथाकथित रेस्ट्रॉन्ट की जांच कराकर बंद कराने का कष्ट करें और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें।
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com