मुरथल में जाट आंदोलन के दौरान महिलाओं से हुआ था गैंगरेप

हरियाणा में जाट आंदोलन के दौरान हुई हिंसा की जांच के लिए बनी प्रकाश सिंह कमेटी की रिपोर्ट सोमवार को हाईकोर्ट में सौंपी गई । इस रिपोर्ट में कन्फर्म किया गया है कि हरियाणा के मुरथल में महिलाओं से गैंगरेप हुआ था।

एमिकस क्यूरी अनुपम गुप्ता ने बताया कि रिपोर्ट में कहा गया है कि आंदोलन में हिंसा के दौरान मुरथल के एक ढाबे में कई लड़कियां और महिलाएं बिना कपड़ों के पहंची थीं। उन्हें कंबल और कपड़े देकर लोगों ने बाद में घर तक पहुंचाया था। गुप्ता का कहना है कि हाईकोर्ट को सौंपी गई रिपोर्ट में इसके बारे में बताया गया है। प्रकाश सिंह कमेटी के तीन सदस्यों ने ढाबा मालिक के बयान दर्ज किए हैं। ढाबा मालिक के मुताबिक जाट आंदोलन में हिंसा के दौरान उनके ढाबे पर कुछ लड़कियां बिना कपड़े के पहुंची थीं।

जाट आंदोलन की आड़ में मुरथल में महिलाओं से हुए गैंगरेप का मामला सोशल मीडिया के जरिए सामने आया था। इसे लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने सख्त तेवर अपनाए और सरकार से जवाब तलब किया। पीड़ितों को अपनी शिकायत चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट को दर्ज करवाने की सहूलियत प्रदान की गई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक करीब 30 लोगों की भीड़ ने कई कारों को रोका और इनमें आग लगाई थी। इन लोगों ने 10 महिलाओं के साथ गैंगरेप किया था। लोगों ने इन्हें कपड़े दिए तब जाकर महिलाएं खेतों से बाहर आ सकीं थीं।

गौर हो कि मुरथल में ढाबों के निकट 21-22 फरवरी की रात गैंगरेप की बात सामने आई थी। हाईकोर्ट में दाखिल विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट के मुताबिक मुरथल में रेप की शिकार तीन महिलाएं सामने आई थीं। हाईकोर्ट में गैंगरेप के सबूत भी पेश किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com