… यहाँ मुर्दों का भी तबादला होता है !!

बदायूॅ – (शारिक नसीरी)

जिले मे भले ही कोई नहर न हो लेकिन यहां नदियों की चिन्तां है गंगा सोत और महावा जैसी नदियां यहाँ से होकर गुजरती है वृक्षो और तालाबो की द्वष्टि से भी यह संपन्न है सरकारी लेखा जोखा मे जिले में तीन हजार सात सौ वियालीस तालाब दर्ज है कुओ का कोई लेखा जोखा जिला प्रशासन के पास मौजूद नही है ज्यादातार तालाबो पर कब्जे कर दुकान,मकान बना लिए गए है कुओं मे मिट्टी और कूड़ा डालकर उनको जमीदोज किया जा रहा है तालाबो एवं अन्य जलस्त्रोतो का अस्तित्व खत्म हो जाने की वजह से लगातार जलस्तर कम होता जा रहा है दो तीन वर्षो मे ही करीब सात प्रतिशत जल कम हो गया है शहर में सागरताल व बडे सरकार दरगाह के पास नदी कुछ वर्ष पूर्व कॉफी बेहतर थी नदी में पानी का बहाव था मगर समय के साथ भूमाफियाओ ने नदी के किनारे ही कब्जा करना शुरू कर दिया है अब हालात यह है कि नदियां सिर्फ नाली मे तब्दील हो गई है ज्यादातार नदी के हिस्सो पर भूमाफियो का कब्जा हो चुका है

 

भूमाफियां नदियों पर कब्जो का अबैध काम सत्ता पक्ष के लोगो के साथ मिलकर करते है और सत्ता के दवाब मे लेकर राजस्व विभाग से सांठ गाठ करके नदी पर कब्जा करते है। अब बात करते हैं शहर मे स्थित काजी हौज की यहां पर  तालाब में मछली पालन होता मछलिया बाहर भेजी जाती हैं काजी हौज के तालाब पर भूमाफियों की नजर है वह लोग सत्ताधारी नेताओ से मिलकर इसको पाटना चाहते है काजी हौज पर लगभग 60 साल पहले 500 बीघा का कब्रस्तान था जो आज भूमाफियो की वजह से लगभग पचास वीघा कब्रस्तान रह गया है काजी हौज पर भूमाफियो वक्फ सम्पत्ति खुलेआम बेचते है यहा पर फर्जी विक्रेता बनाकर कब्रस्तान की जमीन बेच दी जाती  है। 
भूमाफियो ने कितने ऐसे बैनामे करवा दिये है जिसमे फर्जी विक्रेताओ को खड़ा कर दिया है काजी हौज पर इस समय भूमाफिया सत्ता पक्ष के लोगो से सांटगाठ करके खुलेआम कब्जा करके कब्रस्तान बेच रहे है लेकिन सत्तापक्ष के दबाव मे होने के कारण कब्रस्तान मे ऐसी शर्मसार घटना की है जिससे हर व्यक्ति सुनकर चोक जाता है आपने यहा पर  किसी अधिकारी का और किसी भी सरकारी व्यक्ति का तवादला होता हुआ देखा होगा लेकिन  मरने के बाद किसी शव का तबादला होते नही देखा होगा 
बता दे कि कुछ वर्ष पूर्व एक व्यक्ति का देहात हो गया था मृतक का विवाह नही हुआ था वह घर मे अकेले रहते थे देहांत के बाद मोहल्ले वालो ने उन्हे काजी हौज स्थित कब्रस्तान में सुपुर्द ए खाकं कर दिया था देहात के कुछ वर्ष बाद मृतक का रिश्तेदार देहांत के बाद बदायूँ आया था वह मोहल्ले के एक युवक के साथ मृतक की कब्र पर फातिहा पढ़ने गया तब शहरी युवक यह देखकर चोक गया और कब्र को खेत में ढूढने ने लगा लोगो ने जहां पर मृतक को दफन किया था वहा पर भूमाफियो ने कब्रो को खेत में तब्दील कर दिया था युवक ने खेत मे काम कर है व्यक्ति से पूछा कि यहा पर कब्रे थी वह कहा हैं खेत मालिक ने चौकाने वाली बात कही कि हमने उन कब्रो को तवादला कर दिया है अब यहा वाली कब्रे उस जगह भेज दी है दोने युवक उदास होकर लौट गए यह वाक्या चौकाने वाला है नही है। बल्कि शर्मसार है क्योकि भूमाफियो खुलेआम कब्रोस्तानो का भी सौदा कर रहे है लेकिन जिला प्रशासन कोई लगाम नही लगा रहा है काजी हौज पर मुर्दे भी तबादला किया जा रहे है वक्फ सम्पत्ति भी बेची जा रही है सत्तापक्ष के दबाव मे आकर प्रशासन चुप्पी साधे हुए है क्या ऐसे ही होता रहेगा मुर्दो का तबादला क्या कब्रस्तान शमशान घाट के भूमि पर ही कर रहे कब्जो पर प्रशासन लगाम लगा पाऐगा यह सब बाते सत्ता पक्ष के लोगो से अच्आ कौन जान सकता है अगर प्रशासन सख्ती से पैश आए तब मुर्दो का तबादला होना बंद हो जाएगा और कब्रस्तान शमशान की भूमि पर कब्जा बंद हो जाएगा और भूमाफिया शहर से कम हो जाएंगे अगर प्रशासन ने तालाबो नदियों कब्रस्तानो शमशान पर हो रहे अवैध  कब्जो पर लगाम नही लगाई तब जिला पानी को तरस जाएगा ओर लोग मुर्दो को दफन करने के लिए तरस जायंगे इन सब बातो पर प्रशासन को सख्त कार्यवाही करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com