युवक का बयान लेने पहुंचे SDM ने खोया आपा

बरेली से सुशील पॉल की रिपोर्ट

सीएम योगी की लाख कोशिशों के बावजूद भी सरकारी अफसर सुधरने का नाम नहीं ले रहे है| ताजा मामला जनपद बरेली का है, जहाँ एक जले हुए युवक के बयां लेने पहुंचे एसडीएम सदर कुंवर पंकज अपना आपा खो बैठे और मीडिया कर्मिओ से उलझ गए और उन्हें कवरेज करने से रोक दिया | 

दरअसल बरेली के नबाबगंज में रहने वाले विजयपाल को जमीनी विवाद को लेकर उसके ताऊ-ताई ने जिंदा जलाने की कोशिश की। जलाने से पहले ताऊ-ताई ने विजयपाल की लाठी-डाँडो से खूब पिटाई भी की। विजयपाल को बचाने आई उसकी पत्नी को भी दोनों ने मिलकर खूब पीटा। विजयपाल को गंभीर हालत में जिला अस्पताल के वर्न वार्ड में भर्ती कराया गया है। गंभीर रूप से जले हुए विजयपाल के बयां लेने अस्पताल पहुंचे एसडीएम सदर कुंवर पंकज ने आते ही मीडिया पर अपना रौब झाड़ना शुरू कर दिया। एसडीएम ने मीडियाकर्मियों के कैमरे बंद करवा दिए। जैसे ही अन्य मीडियाकर्मियों को इसकी भनक लगी तो कई न्यूज़ चैनल्स के अन्य पत्रकार भी अस्पताल पहुंच गए। इस दौरान एसडीएम साहब उन सभी मीडियाकर्मियो से उलझ गए और कैमरे पर ही अपना रौब झड़ने लगे। साहब का कहना था कि मैं आप लोगो को कोई जानकरी नहीं दूंगा| कुछ भी नहीं बताउंगा| उधर एक युवक ज़िंदगी और मौत से जूझ रहा है, तो दूसरी तरफ आरोपियों पर कार्यवाही करने की बजाय एसडीएम साहब मीडियाकर्मियों को कायदे-कानून सिखाने लगे। आपको बता दे कि नबाबगंज इलाके में रहने वाले विजयपाल के माता-पीता की कई साल पहले मौत हो गई थी| विजयपाल अकेला है और उसके कोई भाई बहन नहीं है। उसके पास खेती की दस बीघा जमीन है जिसको हथियाने के लिए कई बार ताऊ-ताई उस पर जानलेवा हमला कर चुके है। पीडित ने न्याय की गुहार लगाई है। 
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com