युवाओं के लिए मिसाल बने आशीष, दृष्टिहीन होकर भी हासिल किया लक्ष्य

हौसले बुलंद हों तो कामयाबी स्वयं कदम चूमती है। यह बात अणु गांव के आशीष परमार ने चरितार्थ की है। दृष्टिहीन होने के बावजूद उन्होंने बैंक पीओ की परीक्षा उत्तीर्ण की है। आशीष की इस उपलब्धि के लिए भाजयुमो ने उन्हें बधाई दी।

भाजयुमो राष्ट्रीय सचिव नरेंद्र अत्री ने उन्हें शॉल और टोपी पहनाकर सम्मानित किया। अत्री ने कहा कि आशीष परमार ने अपनी इस उपलब्धि के साथ युवाओं के लिए मिसाल पेश की है। युवा आशीष के जीवन से प्रेरणा लेकर लक्ष्य पा सकते हैं।

आशीष परमार ने बताया कि बैंक पीओ परीक्षा के लिए दूसरा प्रयास था। पहले प्रयास में असफल हो गए थे। उनके पिता हरबंस परमार और बहन विजेता परमार ने उनका मनोबल नहीं गिरने दिया। बताया कि उनकी बहन भी दृष्टिहीन है।

उन्होंने बैंक में अधिकारी की नौकरी हासिल की और मुझे भी आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। आशीष ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा देहरादून से प्राप्त की। पीपीएस आरकेपुरम नई दिल्ली से सेकेंडरी तक की शिक्षा ग्रहण की। स्नातक डिग्री दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदू कॉलेज से ली।

इसके अलावा कोपा का कोर्स एनआईबीएच से किया है। आशीष ने बताया कि वह छुट्टियों में जब घर आते हैं तो उन्हें नरेंद्र अत्री एवं प्रदीप कुमार प्रोत्साहित करते और मनोबल बढ़ाते थे। समाजसेवी प्रदीप कुमार, युवा मोर्चा अध्यक्ष अजय रिंटू, प्रियांश, राजीव शर्मा, मुनीष कुमार, विजय सकलानी, राकेश कुमार, दीपक शर्मा, दिनेश ठाकुर, हितेश और कमलेश वर्मा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com