रियलिटी चेक में टायं टायं फिस्स हुआ बुलंदशहर का स्वास्थ्य विभाग, देखें दमदार रिपोर्ट

यूपी के सीएम स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने का लाख दम भर रहे हों लेकिन बुलन्दशहर के खुर्जा सीएचसी, और महिला अस्पताल की जो तस्वीर सामने आई हैं उन्होंने स्वास्थ व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी है, यहां अस्पताल में प्लास्टर डॉक्टर नहीं बल्कि ट्रेनी वार्डबॉय करते हैं, और महिला अस्पताल में हाल तो डॉक्टर ही नहीं मिलती, और जो मिलती है वो दवाइयां भी बाहर से मांगती है। रिपोर्ट देखिए-
यूपी की सत्ता पर काबिज़ होते ही  सीएम योगी ने पहली प्राथमिकता सूबे लचर हो चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था को दी थी, इतना ही नहीं सीएम ने खुद भी कई अस्पतालों का औचक निरीक्षण किया था जबकि सरकार के कई नेता, और आला अधिकारी भी अस्पतालों में औचक निरीक्षण करते पाए गए थे, लेकिन सवाल ये है कि उन निरीक्षणों के बाद क्या डॉक्टरों की कार्यशैली में कोई बदलाव आया? ये तस्वीरें हैं बुलन्दशहर के खुर्जा स्थित सीएचसी और महिला अस्पताल की जहां जब हमारा कैमरा अस्पताल के अंदर पहुंचा तो महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ० उर्मिला दोपहर तक नदारद मिलीं इतना ही नहीं, पेट दर्द की दवाई दिलाने के लिए जब निजामुद्दीन नाम का युवक अपनी बेटी रुखसार को लेकर अस्पताल पहुंचा तो यहां मजूद डॉक्टर पूनम ने मरीज़ को दवाई ही बाहर से लिख डालीं अब सवाल ये उठता है कि, सरकार जो लाखों करोड़ों रुपये दवाइयों खर्च कर रही है वो कहाँ जा रहे हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com