सपा बसपा गठबंधन में दिखाई देने लगे कांटे

उपचुनाव में गठबंधन की जोरदार जीत के बाद से ही इस बात के कयास लगाये जा रहे थे कि पता नहीं ये गठबंधन आगे भी जारी रहेगा कि नहीं…अखिलेश और माया प्रेस कॉन्फ्रेंस में बार-बार इस बात को दोहराते रहे कि यह गठबंधन अटूट रहेगा। यहां तक सोमवार को भी यही बात कही थी। लेकिन जैसा कहते हैं कि सियासत की घड़ी की सूई हर वक्त बदलती रहती…उसी तरह 24 घंटे के भीतर ही गठबंधन की राह में कांटें दिखाई पड़ने लगे हैं। प्रेस रिलीज में कहा गया है कि गठबंधन जारी रहेगा लेकिन आगे के उपचुनावों में बीएसपी कार्यकर्ता सक्रिय तौर पर मददगार नहीं रहेंगे। मायावती ने 24 मार्च को अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक तरफ गठबंधन की हिमायत की तो दूसरी ओर अपनी एक प्रेस रिलीज में इस बात को साफ कर दिया कि आने वाले उपचुनाव में BSP के कैडर किसी पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे। यानि कैराना और नूरपुर उपचुनाव में अब समाजवादी पार्टी और बीएसपी में फूलपुर और गोरखपुर जैसी एकजुटता नहीं दिखेगी क्योंकि मायावती ने साफ कह दिया कि उसके कार्यकर्ता उपचुनाव में इतना एक्टिव होकर काम नहीं करेंगे। माया के इस बयान पर सपा का कहना है कि गठबंधन में दरार जैसी कोई बात नहीं है क्योंकि उनका गठबंधन बड़े लक्ष्य के लिए और बड़े चुनाव के लिए है और सब का फोकस 2019 पर है इसलिए उपचुनाव को लेकर BJP को किसी गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए। उधर बीजेपी को गठबंधन नहीं होने की धुंधली सी आस नजर आने लगी है, जिसपर मोहसिन रजा ने कहा कि इस गठबंधन में बहुत पेंच हैं और आगे देखिए इस गठबंधन में और क्या-क्या होता है। तो वहीं कांग्रेस का कहना है कि इस गठबंधन ने अपना ट्रेलर दिखा दिया है और अब 2019 में पूरी फिल्म दिखाएगी। दरअसल कैराना सीट पर आरएलडी की नजर है और आरएलडी के एक विधायक ने क्रॉस वोटिंग कर BJP को समर्थन दिया था इससे नाराज मायावती ने आरएलडी को चेतावनी भी दी थी, माना जा रहा है मायावती अपना स्टैंड और कड़ा कर सकती हैं। दरअसल, मायावती फूलपुर और गोरखपुर में अपना वोट ट्रांसफर कराने में सफल रहीं लेकिन कैराना में उसके लिए ऐसा करना इतना आसान नहीं होगा। यह बीजेपी का भी गढ़ है। अगर यहां गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा तो गठबंधन का यह माहौल हल्का पड़ सकता है। मायावती पहले ही कह चुकी हैं कि अखिलेश अच्छे लड़के हैं, लेकिन तजुर्बे की अभी कमी है। मायावती इस माहौल को 2019 तक बनाए रखना चाहती हैं ताकि गठबंधन की सुपर बॉस वही बनी रहें

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com