बेकाबू डंफर ने श्रधालुओं को रौंदा,हादसे में 10 श्रद्धालुओं की मौत

उत्तराखंड के चंपावत जिले में टनकपुर के पास स्थिति प्रसिद्ध धार्मिक स्थल मां पूर्णागिरि का दर्शन करने जा रहे बरेली के नवाबगंज क्षेत्र के श्रद्धालुओं को एक डंपर ने रौंद दिया। हादसे में मौके पर नौ श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि एक ने पीलीभीत अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। 20 अन्य घायलों को खटीमा के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनास्थल पर मृतकों के शहर के अंग सड़क पर बिखरे पड़े हैं और घटनास्थल खून से लाल हो गया है। सेना के जवान, प्रशासनिक टीम और स्थानीय लोग बचाव कार्य में जुटे रहे। बरेली के नवाबगंज क्षेत्र के तीन गांव बुखारीपुर, बिहारीपुर और सदरपुर के करीब ढाई सौ श्रद्धालु मां का डोला लेकर बुधवार की सुबह पूर्णागिरी दर्शन के लिए निकले थे। शुक्रवार की सुबह टनकपुर पहुंचने पर इनके जत्थे में सबसे आगे इनका ट्रैक्टर चल रहा था। उसके बाद मां का डोला था। उनके साथ श्रद्धालु भी पैदल चल रहे थे। जत्था सेल्स टैक्स दफ्तर के पास ही पहुंचा था कि सितारगंज की ओर से आ रहा एक डंपर उन्हें रौंदते हुए आगे बढ़ गया। हादसे में नौ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 21 लोग घायल हो गए। हादसा इतना भयावह था कि श्रद्धालुओं में चीख-पुकार मच गई। सड़क पर जगह-जगह मृतकों के अंग बिखरे हुए थे। उधर, डंपर चालक कुछ दूर आगे जाने के बाद वाहन खड़ा कर फरार हो गया। हादसे के बाद घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए सेना व प्रशासनिक टीम के साथ स्थानीय लोग भी तत्परता के साथ आगे आए। इतना ही नहीं, हादसे का मंजर देख दहशत में आए अन्य श्रद्धालुओं को सांत्वना देने के साथ-साथ उनके भोजन-पानी का भी इंतजाम किया। करीब दस बजे प्रशासन ने रोडवेज की तीन बसें मंगवाकर श्रद्धालुओं को उनके घरों के लिए रवाना किया। स्थानीय लोगों का कहना है कि यह हादसा दो डंपरों की आपस में रेस की वजह से हुआ। दोनों डंपर एक-दूसरे से रेस कर रहे थे। जब एक डंपर ने अनियंत्रित होकर श्रद्धालुओं को रौंदा तो दूसरा डंपर पीछे से ही बैक करके वापस भाग गया। बताया जा रहा है कि दोनों डंपर खाली थे और खनन सामग्री लोड करने के लिए टनकपुर जा रहे थे।

Watchvideo https://youtu.be/v4N1KNfFZLw

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com