तूफान के कारण हुए हादसों में 100 लोगों की मौत, 47 अन्य घायल

आगरा से पुष्पेंद्र शर्मा की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश और राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में बुधवार देर रात आये आंधी-तूफान के कारण हुए हादसों में कम से कम 100 लोगों की मौत हो गयी तथा 47 अन्य घायल होने की बात सामने आ रही है। मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार क्षेत्र में बने चक्रवाती परिसंचार तंत्र से आगामी 48 घंटों के दौरान उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में फिर से धूल भरी आंधी आने का पूर्वानुमान है। इससे उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र विशेषकर करौली, धौलपुर जिले प्रभावित हो सकते हैं। अकेले यूपी में ही 70 के करीब लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है। केवल आगरा में ही 40 से ज्यादा लोग मारे गए हैं। इसके अलावा 150 पशु भी मारे गए हैं। 35 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। तबाही का ये मंज़र दूसरे इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। बिजनौर में 3, बरेली में 1, पीलीभीत 1, कानपुर देहात में 3, सहारनपुर में 2, चित्रकूट, रायबरेली और उन्नाव में एक-एक लोगों की मौत हुई है। इस तरह यूपी में कुल 70 लोगों की जान गई है। राजस्थान में भी आंधी-तूफ़ान ने भयंकर तबाही मचाई है। अब तक 33 लोगों की मौत की ख़बर है। भरतपुर, धौलपुर और अलवर में 12 लोगों की मौत हुई है. राहत-बचाव काम जारी है. मृतक परिवारों के लिए 4-4 लाख मुआवज़े की घोषणा की गई है। फौरी राहत के तौर पर 4300 रुपये देने का ऐलान किया गया है। यहां ज्यादातर लोगों की मौत छत गिरने या मिट्टी के मकान गिरने से हुई है। जगह-जगह पेड़ गिर गए हैं। बिजली के खंभे भी गिरे हैं,  जिसकी वजह से बुधवार शाम से ही अलवर में बिजली गुल है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com