शादी से 17 दिन पहले तिरंगे में आया जवान का पार्थिव शरीर

जम्मू कश्मीर में वतन की हिफाजत करते हुए बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गये है. जिसमे एक जवान फतेहपुर के शहीद विजय पांडे की 20 जून को शादी होने वाली थी. लेकिन उनके घर जब पार्थिव शरीर पहुंचा तो लोगों का आक्रोश रोके नहीं रुका.

बीएसएफ बटालियन ने अपने शहीदों को आखिरी सलामी देकर उनके पार्थिव शरीर को गांवों में भेज दिया था. इस साल कश्मीर में अब तक 18 जवान शहीद हो चुके हैं, जबकि इसी दौरान सुरक्षाबलों ने 80 से ज्यादा आतंकियों को ठिकाने लगाया है

फतेहपुर के सठिगवां गांव में सोमवार को विजय पांडे को अंतिम विदाई दी गई. इस मौके पर काफी संख्या में लोग जमा हुए. बताया जाता है कि उनकी शादी के लिए काफी तैयारियां की गई थी और कार्ड भी छपवाए जा चुके थे.

रविवार को पाकिस्तानी रेंजर्स ने अखनूर सेक्टर के प्रगवाल इलाके और नजदीक के कंचक और खौर सेक्टरों में भारी गोलीबारी की थी. इस वजह से लोगों को अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ा था. पिछले साल शुरू हुए ऑपरेशन ऑल आउट में अब तक 300 से ज्यादा आतंकी मारे जा चुके हैं.

बीएसएफ के जम्मू फ्रंटियर के महानिरीक्षक राम अवतार ने बताया था कि पाकिस्तान के सैनिकों ने आधी रात के बाद करीब एक बजकर 15 मिनट पर पाकिस्तान की ओर से प्रगवाल में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर बिना उकसावे के गोलीबारी की जिसमें सहायक उपनिरीक्षक एसएन यादव और कांस्टेबल वीके पांडे गंभीर रूप से जख्मी हो गए. दोनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया था, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com