दर्द से कराहती रही महिला, अस्पताल में सोते रहे डॉक्टर!

बढ़ते हैं खबर की ओरदर्द से तड़पती महिला मरीज को देखकर किसी का भी दिल पसीज जाएइसे देखकर कोई भी कह सकता है कि उसे सांस लेने में तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। उसकी जान पर बन आई है। लेकिन जिन्हें इसकी सुध लेनी चाहिएउन्हें इससे कोई मतलब नहीं है। ये नज़ारा है रामपुर जिला अस्पताल का….यहां मरीज दर्द से तड़पते रहते हैंडॉक्टर, नर्स और अस्पताल के दूसरे स्टाफ या तो सोए रहते हैं या फिर मोबाइल में व्यस्त रहते हैं।

एक तरफ तड़पती महिला और चैन की नींद सोता हॉस्पिटल स्टाफ
महिला तड़पती रही सोता रहा डयूटी पर तैनात पूरा स्टाप[/caption]ये हाल तब है जब रामपुर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी का संसदीय क्षेत्र है तो योगी सरकार के मंत्री बलदेव सिंह औलख का गृह जनपदजब हमारी टीम ने रात में जिला अस्पताल का जायजा लिया तो हैरान करने वाले नज़ारे दिखाई दिए। अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में डॉ. दशरथ कुमार की नाइट ड्यूटी है। उनकी ड्यूटी यहां पर आने वाले मरीजों का प्राथमिक उपचार कर अस्पताल के विभिन्न वार्डों में भर्ती करने की है। अगर किसी मरीज की हालत ज्यादा नाजुक हो तो उसे इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया जाता है। लेकिन यहां मरीजों को भर्ती कौन कराएगाउन्हें रेफर कौन करेगाडॉ.साहब तो खुद नींद के आगोश में डूबे हुए हैं। तमाम चिंताओं से बेफिक्र होकर वे मीठीमीठी नींद ले रहे हैं। यहां तक कि वे ड्यूटी रूम के बाहर लिखे स्लोगन "आप सीसीटीवी कैमरे की नज़र में है " से भी बेखबर हैं।  अब जब डॉक्टर साहब को ही नींद सता रही है तो इमरजेंसी वार्डों में ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्सेस और दूसरे स्वास्थ्य कर्मियों की कौन कहे। कोई मोबाइल पर अपना मनोरंजन कर रहा है तो कोई खर्राटे ले रहा है। कोई आंखें मलता नज़र रहा है तो कोई कुछ देर के लिए कैमरे की ओर देखकर फिर से मोबाइल में व्यस्त हो जाता है। उन्हें इससे कोई मतलब नहीं कि इमरजेंसी वार्ड में भर्ती किसी मरीज की जान पर बन आई है

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com