FIFA WROLD CUP: नाइजीरिया को हराकर अर्जेंटीना ने अंतिम-16 में बनाई जगह

मार्कोस रोजो द्वारा 86वें मिनट में किए गए बेहतरीन गोल के दम पर अर्जेंटीना ने मंगलवार देर रात खेले गए फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में ग्रुप-डी के मैच में नाइजीरिया को 2-1 से मात देकर अंतिम-16 में जगह बना ली है. यह अर्जेंटीना की इस विश्व कप में पहली जीत है. पहले मैच में उसने आइसलैंड से 1-1 से ड्रॉ खेला था तो वहीं दूसरे मैच में उसे क्रोएशिया से 3-0 से हार मिली थी.

लियोनेल मेसी ने खेल की शुरुआत में ही अपनी टीम को बढ़त दिला दी। मेसी ने 14वें मिनट में शानदार गोलदागकर टूर्नमेंट में अपना पहला गोल दर्ज किया और अर्जेंटीना को बढ़त दिला दी। हालांकि खेल के दूसरे हाफ में नाइजीरिया ने बराबरी कर ली थी। लेकिन अंतिम पलों में अर्जेंटीना के लिए रोजो ने गोल दागकर अपनी टीम को टूर्नमेंट के बाहर होने के संकट से बचा लिया। इस जीत के साथ ग्रुप-डी की अंकतालिका में अर्जेंटीना 4 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रही, वहीं टॉप पर क्रोएशिया (7 अंक) ने जगह बनाई। नाइजीरिया की 3 मैचों में यह दूसरी हार है और टीम 3 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रही। 
 उतार-चढ़ाव से भरे इस मुकाबले में दिग्गज स्ट्राइकर लियोन मेसी के बाद डिफेंडर मार्कोस रोजो ने निर्णायक गोल दागकर अपनी टीम को अंतिम-16 में पहुंचाया। निर्धारित समय से चार मिनट पहले रोजो ने निर्णायक गोल दागा। 2014 विश्व कप में भी इन दोनों ने गोलकर नाइजीरिया को पराजित किया था। अंतिम 16 में अर्जेंटीना का मुकाबला फ्रांस के साथ होगा। 

अर्जेंटीना ने मैच की सकारात्मक शुरुआत की. वहीं नाइजीरिया भी कम आक्रामक नहीं थी. आखिरकार मेसी ने 14वें मिनट में गोल कर अपनी टीम और प्रशंसकों वो लम्हा दिया जिसका लंबा इंतजार करना पड़ा. मेसी को मैदान के बीच से बेनेगा ने गेंद दी और अर्जेंटीना के कप्तान ने बॉक्स के बाहर गेंद पर कब्जा कर अंदर घुसे और दाईं ओर से गेंद को नेट में इस विश्व कप में अपना खाता खोला. मेसी का यह गोल इस विश्व कप का 100वां गोल था. 28वें मिनट में मेसी ने दाएं छोर से गोंजालेज हिग्युएन के गेंद दी जिसे नाइजीरिया के गोलकीपर फ्रांसिस यूझोहो ने रोक दिया।

नाइजीरिया, अर्जेंटीना के खिलाड़ियों को खाली छोड़ रही थी. इसी कारण अर्जेंटीना मौके बना रही थी. ऐसी ही लगती 32वें मिनट में नाइजीरिया ने की खाली खड़े एंजेल डी मरिया के पास गेंद आई मरिया गेंद लेकर बॉक्स में जा ही रहे थे कि बालोग ने बाहर ही उन्हें गिरा दिया. अर्जेंटीना को फ्री किक मिली जिसे मेसी ने लिया. मेसी के बेहतरीन शॉट को हालांकि फ्रांसिस बचा ले गए.

पहले हाफ में अर्जेंटीना को खुशी मिली थी, लेकिन दूसरे हाफ में वो खुशी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई. माश्चेरानो ने बालोगन को पेनाल्टी एरिया गिरा दिया और वीएआर की दखलअंदाजी से नाइजीरिया को पेनाल्टी मिली जिसे विक्टर मोसेसे ने 51वें मिनट में गोल में बदल कर अपनी टीम को 1-1 की बराबरी दिला दी.

नाइजीरिया खिलाड़ी किसी भी अर्जेंटीनी खिलाड़ी को अकेले नहीं छोड़ रहे थे. खासकर मेसी को. मेसी कभी भी दो नाइजीरियाई खिलाड़ियों के बिना दूसरे हाफ में नहीं दिखे और इसी कारण वह अपने पास गेंद को बना नहीं पाए. नाइजीरिया का डिफेंस मजबूत था और उसकी आक्रमण पंक्ति भी मौके बनाने की कोशिश में लगी थी. इसी बीच 71वें मिनट में नदिदि ने नाइजीरिया की स्कोरशीट में दूसरा गोल डालने का मौका गंवा दिया.

वर्ल्ड कप में अर्जेंटीना का इससे पहले आइसलैंड के खिलाफ मैच ड्रॉ रहा और क्रोएशिया ने उन्हें पराजित किया था। वहीं, नाइजीरिया की बात की जाए तो पहले मैच में क्रोएशिया से मिली हार के बाद टीम ने अगले मैच में आइसलैंड को आसानी से 2-0 से मात दी थी। 

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com