Asia Cup 2018: मैदान पर फिर दिखा रवींद्र जडेजा का जादू,बांग्लाेदेश के खिलाफ बने मैन ऑफ द मैच

भारतीय टीम के खिलाड़ी रवींद्र जडेजा  अपने आलोचकों का जवाब जोरदार प्रदर्शन से देते आए हैं. वही इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के आखिरी मैच में जोरदार प्रदर्शन करने वाले जडेजा ने Asia Cup 2018  के अंतर्गत शुक्रवार को बांग्‍लादेश के खिलाफ मुकाबले में भी ठीक यही किया. जडेजा करीब डेढ़ साल से भारतीय टीम से बाहर हैं. एशिया कप के लिए घोषित भारतीय टीम में भी वे शामिल नहीं थे, इसे जडेजा की किस्‍मत कहिए या टीम इंडिया की किस्‍मत, टूर्नामेंट के दौरान जब भारतीय टीम के तीन खिलाड़ी हार्दिक पंड्या, शारदुल ठाकुर और अक्षर पटेल चोटिल हो गए. ऐसे में सिलेक्‍टर ने दीपक चाहर, सिद्धार्थ कौल और रवींद्र जडेजा को टीम में जगह दी. चोटिल हार्दिक की गैरमौजूदगी में जडेजा को बांग्‍लादेश के खिलाफ मैच खेलने का मौका मिला और उन्‍होंने इसे दोनों हाथों से लपक लिया. मैच में जडेजा ने 10 ओवर में 29 रन देकर चार विकेट हासिल किए और उन्‍हें मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.

जडेजा की गेंदबाजी का ही कमाल था कि भारतीय टीम बांग्‍लादेश को 173 रन के संक्षिप्‍त स्‍कोर पर समेटने में सफल हो गई. उन्‍होंने मैच में शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम, मोहम्‍मद मिथुन और मोसादक हुसैन के विकेट झटके. बांग्‍लादेश के खिलाफ इस प्रदर्शन के बाद सोशल मीडिया ने उनकी जमकर वाह-वाह हुई. क्रिकेट प्रेमियों ने मैच में उनके शानदार प्रदर्शन को न केवल सराहा बल्कि सिलेक्‍टर्स को यह बात याद दिलाने से नहीं चूके कि जडेजा टेस्‍ट ही नहीं बल्कि हर तरह के फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन कर सकते हैं.

दरअसल, आलोचकों को गलत साबित करना हमेशा से ही जडेजा का शगल रहा है. जब भी उनकी आलोचना की गई, उन्‍होंने जोरदार प्रदर्शन करके इसका जवाब दिया है. इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के पहले चार मैचों में उन पर रविचंद्रन अश्विन को तरजीह दी गई. लेकिन पांचवें टेस्‍ट में उन्‍हें जैसे ही खेलने का मौका मिला, उन्‍होंने गेंद और बल्‍ले, दोनों से ही जोरदार प्रदर्शन करके आलोचकों की बोलती बंद कर दी.  इंग्‍लैंड के पूर्व क्रिकेटरों ने भी माना कि सीरीज में अगर जडेजा को पहले से खिलाया जाता तो वे बड़ा अंतर पैदा कर सकते थे.

बांग्‍लादेश के खिलाफ मैच में भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाने के बाद जडेजा ने कहा था, मैं करीब 15 माह बाद वनडे इंटरनेशनल खेला. मैंने सोच रखा था कि जब भी मौका मिलेगा, इसका पूरा फायदा उठाना है. आखिरकार मुझे यह मौका मिल गया और मैं बेहद खुश हूं कि शानदार प्रदर्शन करने में सफल रहा. सहयोगी स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के बारे में जडेजा ने कहा कि इन दोनों ने भी अच्‍छी गेंदबाजी की लेकिन किस्‍मत से विकेट मुझे हासिल हुए

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com