12 अगस्त को नहीं होगी रात, कितना सच कितना झूठ….

नई दिल्ली: ये तो हम जानते ही है की आज सोशल मीडिया का जमाना है और ख़बरों को सबसे पहले जाननें के लिए हम इसी साधन का इस्तेमाल करते है. जितनी जल्दी और स्पष्ट खबर हमें सोशल मीडिया पर मिलती है, वहीं दूसरी तरफ उतनी ही झूठी और उनको वायरल बना देने वाली ख़बरें भी यहीं मिलती है. 

जो काम पहले हमारा या कहें की मीडिया वालों का होता था, वही काम आज कुछ गुरुघंटालों का होने लगा है, जो कोई भी झूठी खबर बनाकर उसको वायरल कर देतें है. कभी 500 का सिक्का, तो कभी नोट में चिप, तो कभी गूगल में बच्चे की नौकरी, तो कभी चोटी काटने वाला गैंग, ऐसी की एक और वायरल खबर आई है, की 12 अगस्त  को रात नही होगी. और तो और अखबारों तक में इस खबर का जिक्र किया गया है.

collage-2017-08-07

और तो और नासा की रिपोर्ट भी आई है, जिसमे भी यही कुछ लिखा है. 

nasa

क्या है पूरा मामला?

दरअसल जो कुछ नया सा होगा वो सिर्फ 12 को ही नहीं बल्कि 10, 11, 12 अगस्त तीनो दिनों होगा, जिसमे 12 को यह पूरी रात होगा. होना ये है कि मीटियर शॉवर होगा. इसे हिंदी में उल्का की बारिश कहते हैं. ढेर साले उल्का पिंड टूटकर इधर उधर बिखर जाएंगे. उनमें तेज चमकदार रोशनी होगी तो नीला आसमान भी दिखेगा. लेकिन इसका मतलब यह भी नही की दिन जैसी रौशनी होगी और आपन समझकर अपना घर का सारा काम बिना लाइट जलाएं कर  लेंगे. 

यह भी बता दें की ये खबर भी झूठ है की ऐसा 96 साल बाद होगा, साल में तीन बार मीटियर शॉवर होता है, और ऐसी वायरल ख़बरों पर इतनी जल्दी विश्वास न करें. 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com