शमशान में जागरण: एक तरफ चिता जलती रही दूसरी तरफ सुनाई गई मां काली की भेंट…

रिपोर्ट – सुमित शर्मा (बुलंदशहर)

उत्तर प्रदेश – शमशान घाट पर जहां चिताएं जलती हो वहां जागरण का होना बिलकुल अविश्वसनीय व अकल्पनीय है। लेकिन यूपी के बुलन्दशहर में शमशान घाट का उत्सव मनाया गया। शमशान घाट पर उत्सव के दौरान जहां एक तरफ चिता जल रही थी तो उसके बराबर में ही मां काली का जागरण किया जा रहा था, जागरण में बच्चे व महिलाऐं भी शामिल हुए। बुलन्दशहर स्थित शमशान घाट में जहां मुर्दो की चितांए जलती है वहां शुक्रवार रात को  एक मुर्दे की चिता जलने के साथ साथ ही  मां काली का भव्य जागरण किया गया। जागरण के दौरान कलाकारों ने जहां मां काली की भेंट सुनाकर रात भर जागरण किया वहीं एक मुर्दे की चिता जलती रही और जागरण में भक्त शरीक होते रहे। शमशान में जागरण बिलकुल अकल्पनीय व अविश्वसनीय है। क्योंकि शमशान घाट पर जहां जागरण होते कभी सुना नही शमशान पर महिलाएं जाती नही, बुलन्दशहर में शमशान घाट पर जागरण में महिलाऐं व बच्चें भी पहुंचे।


दरअसल बुलन्दशहर के शमशान घाट का 4 वर्ष पूर्व जीर्णोधार किया गया था, तब से लगातार 26 मई को शमशान घाट जीर्णोधार समिति द्वारा शमशान घाट उत्सव मनाकर मां काली का जागरण किया जाता रहा है। देश में ये पहला मामला प्रकाश में आया है जहां शमशान घाट पर जागरण होता है।

 

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com