अस्पताल के गेट पर ही जच्चा ने जन्मा बच्चा, स्टाफ ने कहा पैसे लाओ तो हुआ हंगामा….

रिपोर्ट – विशाल शर्मा (मैनपुरी)

उत्तर प्रदेश – सुबे की योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी और मरीजो को बेहत सुविधायें देने के लिए भले ही चाहे लाख प्रयास कर रही हो । लेकिन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और अधिकारी अपनी बत्तमीजी के चलते सरकार के आदेशों को हवा में उड़ा रहे है, और सरकार की जमकर किरकिरी करा रहे है। ऐसा ही मामला मैनपुरी में उस समय देखने को मिला जब प्रसव कराने आई एक महिला को पहले तो भर्ती नही किया । बाद में उसे गर्भ उल्टा कहकर अस्पताल के गेट से बाहर कर दिया।  जिसके बाद महिला ने अस्पताल गेट पर सकुशल बच्चे को जन्म दिया। लेकिन हद तो तब हो गई जब प्रसव होने के बाद अस्पताल स्टाफ ने महिला के परिजनों से पैसों की मांग करनी शुरू कर दी। मामला इतना बढ़ गया कि पुलिस को बुलाना पड़ा तब जाकर कही मामला शांत हुआ।


 दरअसल, मामला मैनपुरी के महिला जिलासप्ताल का है। जहां थाना बेबर क्षेत्र के ग्राम बनाहार निवासी रोशनलाल बीती देर रात अपनी पुत्र वधू का प्रसव कराने उसको लेकर महिला जिलासप्ताल आये थे। पहले तो यहां के स्टाफ ने प्रसूता को अस्पताल में भर्ती ही नही किया। बाद में जब ज्यादा कहा गया तो भर्ती किया और तत्काल गर्भ उल्टा बताकर सैफई के लिए रेफर कर दिया। लेकिन जब तक एम्बुलेंस आती। प्रसूता ने अस्पताल गेट पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। जिसके वाद हद तो तब हो गई जब जैसे ही अस्पताल गेट बच्चा होने की सूचना अस्पताल स्टाफ को हुए तो बेशर्म स्टाफ को अपनी करनी पर पछतावा तो दूर उल्टा खुशी की चौथ मांगने और पंहुच गए। जब इसका विरोध परिजनों ने किया तो मामला बढ़ गया और इतना बढ़ गया कि मामले में पुलिस को बुलाना पड़ा जिसके बाद पुलिस ने मामले को रफा दफा किया। मामला तो रफादफा हो गया लेकिन जो रवैया महिला अस्पताल के स्टाफ का रहा वो बेहद शर्मनाक था।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com