बिजनौरः खूनी संघर्ष में 3 की मौत, 12 से अधिक घायल

बिजनौरः  जिले के ग्राम पैदा में दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष हो गया है, जिसमें 3 लोगों के मरने की खबर है, जबकि 12 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें से कई की हालत गंभीर बनी हुई है। पूरे विवाद के पीछे स्कूली छात्राओं के साथ छेड़खानी वजह बताया जा रहा है।

खबरों के मुताबिक, पैदा गांव निवासी कुछ लड़कियां शुक्रवार सुबह स्कूल में जा रही थी तो बीच रास्ते में गैर समुदाय के कुछ युवकों ने उनके साथ छेड़खानी कर दी। बस इसी बात को लेकर वहां पर विवाद की स्थिति बन गई और देखते ही देखते दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने आ गए। ‘समाचार TODAY’ के संवाददाता नईम अंसारी के मुताबिक, पहले तो दोनों पक्षों के बीच गाली-गलौज से विवाद उत्पन्न हुआ और फिर दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। यहां तक तो ठीक था, लेकिन कुछ देर बार लड़की पक्ष के लोगों ने गैर समुदाय के छेड़खानी के आरोपी पक्ष के लोगों पर हमला बोल दिया। की गई अंधाधुंध फायरिंग में गैर समुदाय के 3 लोगों की मौके पर मौत हो गई, जबकि 12 से अधिक लोग बुरी तरह से घायल हो गए। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। शवों को कब्जे में लेकर पुलिस ने जहां उन्हें पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, वहीं घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया।

तनाव व्याप्त, पुलिस फोर्स तैनात

दोनों पक्षों के बीच हुए खूनी संघर्ष के बाद गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। बिजनौर एसपी से लेकर बिजनौर और आसपाल के तमाम अधिकारी गांव में कैंप किए हुए हैं।

हंगामा और जाम !

गुस्साएं लोगों ने बीच सड़क पर लाशों को रखकर जाम लगा दिया। महिलाओं ने इस दौरान जमकर हंगामा भी किया। पुलिस के लाख प्रयासों के बावजूद भी ग्रामीण नहीं माने। पुलिस ग्रामीणों और महिलाओं की मिन्नतें करती रही।

अस्पताल में अलर्ट !

बिजनौर जिला अस्पताल में इस वारदात के बाद अलर्ट घोषित कर दिया गया। घायलों को बेहतर उपचार के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों ने कड़ी नजर बनाई हुई है। साथ ही चिकित्सकों की टीम सभी घायलों को बेहतर उपचार देने में जुटी हुई है।

आरोपियों की धरपकड़ !

खूनी संघर्ष के बाद पुलिस ने मौके से दोनों पक्षों के कई लोगों को हिरासत में ले किया, जबकि काफी संख्या में आरोपी मौके से फरार हो गए, जिनकी तलाष में पुलिस की दबिशें जारी हैं।

मुजफ्फरनगर में अलर्ट !

बिजनौर घटना के बाद मुजफ्फरनगर जिले में भी एसएसपी दीपक कुमार ने अलर्ट जारी कर दिया है। आपको बता दें कि छेड़छाड़ की मामूली सी घटना के बाद कवाल गांव में तीहरे हत्याकांड के बाद सितंबर 2013 में मुजफ्फरनगर में सांप्रदायिक दंगा शुरु हो गया था। बिजनौर की आंच से बचने के लिए एसएसपी दीपक कुमार ने जिले भर में अलर्ट जारी की पुलिस फौर्स को विपरित स्थिति से निपटने के लिए आदेशित कर दिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com