सफेद दूध का काला कारोबार, देखे वीडियों

पूरे प्रदेश में दूध का रेट 35 रुपये से लेकर 40 रुपये तक का है, चाहे वह घरेलू पशुपालको से खरीदा जाए या फिर बाजार में विकने वाले ब्रान्डेट दूध का पैकेट हो। लेकिन यूपी के मऊ जनपद में दूधिया यानि दूध बेचने वाले छोटे कारोबारी, गावों में पशुपालको से 30 से 35 रुपये लीटर का दूध खरीदते है और उसको जनपद मुख्यालय लाकर 20 से 25 रुपये लीटर में बेचते है। जी हां दूधिया यानि दूध बेचने वाले कारोबारी के सस्ते में दूध बेचने के कारोबार को पहले देखिए कि दूधिया गांव से दूध लेकर मीलों का सफर तय करते हुए जनपद मुख्यालय पहूँचता है और फिर शहर क्षेत्र के कोतवाली इलाके में जगह-जगह पर रुककर जितना दूध होता है उतने ही मात्रा में पानी मिलाने का काम करते है। इसका लाइव वीडियो भी कैमरे में कैद हुआ है। आप भी दूधियों के इस कारनामों को देखिए।  दूध बेचने वाला दूधिया अपना नाम राम प्रवेश बता रहा है और वह जनपद के हलधरपुर थाना क्षेत्र के मुस्तफाबाद गांव का रहने वाला है। दूधिया बताता है कि वह अपने इलाके में रहने वाले पशुपालको से 30 से 35 रुपये के लीटर के भाव से दूध खरीदता है और जिला मुख्यालय पर लाकर 20 से 25 रुपये मे बेचता है। उसने कहना है कि वह क्या करे। यहाँ पर जब वह दूध बेचने के लिए लाता है तो लोग उससे सस्ता दूध खरीदना चाहते है। अब वह सस्ता दूध कहा से लाए इसलिए दूध में पानी मिलाने का काम करता है। हालाकि ये सभी दूधिए ग्रामीण इलाके से आते है और मुख्यालय पहूँच कर पानी मिलाने का खुला खेल हाइवे के किनारे करते है। जिले के आलाधिकारियो की गाडियाँ भी उन्ही रास्तो से होकर गुजरती है लेकिन इन अधिकारियो की नजर इन पर नही पडती है। देखना होगा की खाद्य विभाग, दूधियों के इस कारनामे को रोकने में कितना कामयाब हो पाएगा।

Watch Video // https://youtu.be/kFVq8ZlTRW0

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com