बदायूं : पोषाहार वितरण में हेराफेरी करने वालों पर होगी एफआईआर

बदायूं: 24 सितम्बर। मुख्य विकास अधिकारी अच्छे लाल सिंह यादव ने कड़ा रूख अपनाते हुए वाल विकास विभाग के अधिकारियों तथा कार्यकत्रियों को निर्देश दिए हैं कि यदि उन्हें पुष्टाहार वितरण में किसी प्रकार की हेराफेरी की शिकायत मिलती है तो जांचोपरान्त दोषियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर जेल भेजा जाएगा। 

शनिवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में सीडीओ ने सीएमओ डाक्टर सुनील कुमार, डीआरडीए के परियोजना निदेशक रविन्द्र नाथ सिंह यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी निर्मल शर्मा सहित सभी नोडल अधिकारियों और सीडीपीओ के साथ हौसला पोषण योजना की समीक्षा की। पोषाहार वितरण की समीक्षा के दौरान उन्होंने पुष्टाहार का स्टाक निल होने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि जब आंगनवाड़ी केन्द्रों में शतप्रतिशत बच्चों की उपस्थिति ही नहीं है तो शतप्रतिशत पोषाहार कैसे वितरण हो जाता है। इस पर विभागीय अधिकारी कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। जिला चिकित्सालय स्थित पोषण पुर्नवास केन्द्र में भर्ती एक अतिकुपोषित बच्चे का मात्र 14 दिन में आठ सौ ग्राम बजन बढ़ने से सम्बंधित चिकित्सक द्वारा रिपोर्ट दी तो सीडीओ सहित बैठक में मौजूद सभी अधिकारी स्तब्ध रह गए। सीडीओ ने भविष्य में फर्जी रिपोर्ट न दिए जाने की चेतावनी दी है। 

जनपद के 2937 आंगनवाड़ी केन्द्रों पर 359101 बच्चे पंजीकृृत हैं। गत माह अगस्त में 320706 बच्चों का वजन कराया गया था जिसमें 260684 बच्चे सामान्य श्रेणी, 46898 आंशिक कुपोषित तथा 13124 गम्भीर कुपोषित पाए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित 2413 आंगनवाड़ी केन्द्रों पर हौसला पोषण योजना संचालित की जा रही है जिसमें गत माह अगस्त में 2152 केन्द्रों पर बच्चों और गर्भवती महिलाओं को भोजन वितरण किया गया। बैठक में कई विभागीय अधिकारियों द्वारा स्वयं उपस्थित न होकर अपने प्रतिनिधियों को भेजने पर सीडीओ ने कड़ी नाराजगी जताई और भविष्य के लिए चेतावनी दी कि पुनरावृृत्ति होने पर कार्रवाई अवश्य की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com