कोलकाता के मेडिकल कॉलेज में लगी आग, कम से कम 250 मरीजों को सुरक्षित निकाला बाहर

कोलकाता के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आग लगने का मामला सामने आया है. आग अस्पताल के फॉर्मेसी विभाग में लगी है। घटना की सूचना मिलने के बाद दमकल की 10 गाड़ियां घटनास्‍थल पर पहुंच गई हैं और राहत-बचाव का काम जारी है. 250 से ज्यादा मरीजों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है। दमकल विभाग की गाड़ियां आग बुझाने में जुटी हुई हैं। बताया जा रहा है कि आग दवा की दुकान से शुरू हुई थी. अभी तक इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

जानकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेज में कई इमारतें हैं और आग लगने के बाद यहां भर्ती कई मरीजों को स्‍ट्रेचर में इमारत से बाहर निकाला गया है. अस्‍पताल से निकाले गए कई मरीजों को एंबुलेंस से दूसरे अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है. कई मरीजों को अस्‍पताल की इमारत में लेटा हुआ देखा गया. हालांकि की यह अभी साफ नहीं हो सका है कि सभी मरीजों को अस्‍पताल से बाहर निकाल लिया गया है.  कोलकाता मेडिकल कॉलेज शहर के सबसे पुराने अस्पतालों में से एक है। 1948 में स्थापित यह कॉलेज कलकत्ता यूनिवर्सिटी और प्रेजिडेंसी कॉलेज के साथ है। 

बताया जा रहा है कि अस्‍पताल में मौजूद मेडिकल शॉप से सुबह करीब 7.30 बजे धुंआ उठते हुए देखा गया था. इस घटना की जानकारी मिलते ही पश्चिम बंगाल डिजास्‍टर मैनेजमेंट के लोग भी मेडिकल कॉलेज पहुंच गए और राहत बचाव के कार्य में लग गए. वही, आग को बुझाने के लिए कोलकाता मेडिकल कॉलेज में लगातार काम चल रहा है. बता दें कि जिस फार्मेसी स्टोर में आग लगी है, उसके ठीक सामने ही अस्पताल का इमरजेंसी वार्ड है. वार्ड में मौजूद सभी मरीज सुरक्षित बताए जा रहे हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले दिसंबर 2011 में कोलकाता के धकुरिया में स्थित एएमआरआई (AMRI) अस्पताल में आग लगने से 92 लोगों के मौत हो गई थी. बताया गया था कि अस्पताल ने आग से बचाव के नियमों का पालन नहीं किया था. स्थानीय मीडिया फुटेज में दिखाया गया है कि कुछ मरीजों को उनकी ड्रिप के साथ हॉस्पिटल बिल्डिंग से बाहर निकाला जा रहा है जबकि कुछ को अन्य ब्लॉक्स में शिफ्ट किया जा रहा है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com