26 September 2020 , Saturday
Login  
Home -> दुनिया

रिपोर्ट : स्निग्धा श्रीवास्तव
प्रोड्यूसर | नोएडा
यूक्रेन में प्लेन हादसा, वायु सेना के 25 जवानों की मौत

यूक्रेन में प्लेन हादसा, वायु सेना के 25 जवानों की मौत...

वायु सेना के प्लेन हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई है। यह दर्दनाक हादसा शुक्रवार की देर रात हुआ बता दें कि प्लेन में क्रू समेत खरकीव एयर फोर्स यूनिवर्सिटी के 27 कैडेट्स जवान थे जबकि प्लेन ट्रेनिंग उड़ान पर था। जानकारी के अनुसार वायु सेना का एंटोनो-26 एयरक्राफ्टर खरकीव में लैंड करते वक्त जमीन से टकरा गया। जमीन के टकराने के साथ ही प्लेन में आग लग गई। जिसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने आग को बुझाया गया। प्लेन हादसे में अबतक 25 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। जबकि दो लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। आपातकालीन मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि प्लेन छूयियो में सेना के एयरपोर्ट से करीब 2 किलोमीटर नीचे आ गया था। ज्ञात हो कि छूयियो संघर्ष मोर्चे से 80 किलोमीटर दूर है जहां सेना और रूसी समर्थित अलगाववादियों के बीच लड़ाई हो रही है।...

6 hours ago 35 ने देखा
रिपोर्ट : स्निग्धा श्रीवास्तव
प्रोड्यूसर | नोएडा
शिंजो एबी के दाहिने हाथ रहे योशिहिदे सुगा बने जापान के प्रधानमंत्री

शिंजो एबी के दाहिने हाथ रहे योशिहिदे सुगा बने जापान के प्रधानमंत्री...

जापान की संसद ने आज योशिहिदे सुगा को नए प्रधानमंत्री के तौर पर को चुन लिया है। ज्ञात हो कि जापान में 8 सालों बाद सुगा देश के नए प्रधानमंत्री चुने गए। संसद के निचले सदन ने वोट देकर इनका चुनाव किया जहां सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है। आपको बता दें कि इससे पहले शिंजो एबी जापाम के प्रधानमंत्री थे। एबी काफी लंबे समय तक प्रधानमंत्री का पद संभालने में रिकॉर्ड बना चुके है। हालांकि पिछले महिने से वो बिमार चल रहे थे जिसके बाद उन्होनें अपने पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया था। योशिहिदे सुगा लंबे समय से एबी के दाहिने हाथ रहे। उन्हें सोमवार को गवर्निंग लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी का नया प्रमुख चुना गया। सुगा ने शिंजो एबी की डिप्लोमैसी और आर्थिक नीतियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि नए कैबिनेट में उन्हें कठिन परिश्रम करने वाले लोगों की जरूरत है। जानकारी के अनुसार वित्त मंत्री तारो आसो, विदेश मंत्री तोशीमित्सु मोटेगी और ओलंपिक मंत्री साइको हाशिमोटो अपने पद पर बने रहेंगे। सुगा ने दूसरे देशों का दौरा काफी कम किया है और उनकी राजनयिक कुशलता के बारे में जानकारी नहीं है। गौरतलब है कि सुगा के पिता अकीता के उत्तरी इलाके में स्ट्रॉबेरी की खेती करते थे। सुगा ने खुद से राजनीति में अपने लिए राह बनाई। वे ग्रामीण समुदाय और सामान्य लोगों के हित में काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि वे एबी की अधूरी नीतियों को आगे ले जाएंगे और उनकी शीर्ष प्राथमिकता कोरोना वायरस से जंग होगी साथ ही महामारी के कारण जर्जर हुई अर्थव्यवस्था को फिर से अपनी जगह पर लाएंगे। उनसे उम्मीदें हैं कि वे एबी की नीतियों को आगे ले जाएंगे। सुगा एबी के विश्वस्त समर्थक रहे हैं।...

16 Sep 847 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबर कीता ने दिया इस्तीफा

माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबर कीता ने दिया इस्तीफा...

माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबर कीता ने आज इस्तीफा दे दिया । आपको बता दे कि सैन्य विद्रोह के बाद राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबर कीता को हिरासत में लिए गया था। हालांकि संयुक्त राष्ट्र फ्रांस और अमेरिका ने माली में सैन्य विद्रोह की निंदा की है। आपको बता दे कि पश्चिम अफ्रीकी देश माली में चल रहे भारी उथल-पुथल के बीच राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इससे पहले विद्रोही सैनिकों ने देश के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता और प्रधानमंत्री बाउबो सिसे को बंधक बना लिया था और नए चुनाव की मांग कर रहे हैं। राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग को लेकर देश में कई महीने से प्रदर्शन हो रहे थे और अब विद्रोही सैनिकों ने आक्रामक अपना लिया है। राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता ने मंगलवार को संसद भंग होने के कुछ घंटों बाद ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया। सर्जिकल मास्क पहने राष्ट्रपति कीता ने स्थानीय टेलीविजन पर अपने इस्तीफे का ऐलान किया। उनके चेहरे पर स्पष्ट तौर पर तनाव दिख रहा था। इससे थोड़ी देर पहले ही प्रधानमंत्री बाउबो सिसे व राष्ट्रपति कीता के साथ कई शीर्ष अधिकारियों को सैनिकों ने हिरासत में ले लिया था। राष्ट्रपति ने टीवी पर अपने संबोधन में कहा कि वो संसद और सरकार भी भंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'मैं नहीं चाहता कि मेरे शासनकाल में खून-खराबा हो। अगर आज हमारे सशस्त्र बलों के कुछ लोग मेरे शासन में हस्तक्षेप कर इसका अंत चाहते हैं तो मेरे पास कोई और विकल्प नहीं है।...

19 Aug 170 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
अमेरिका के सिनसिनाटी में हुई गोलीबारी,  8 लोगों की मौत

अमेरिका के सिनसिनाटी में हुई गोलीबारी, 8 लोगों की मौत...

अमेरिका के सिनसिनाटी में कई जगहों पर हुई गोलीबारी से हडकंप मचा हुआ है। इस गोलीबारी में 18 लोग शिकार बने, जिनमें से 8 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने एक बयान में कहा कि एवोनडेल में गोलीबारी में घायल 21 वर्षीय एंटोनियो ब्लेयर की अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि शहर के ओवर-द-रिने इलाके में गोलीबारी की एक घटना में 10 लोगों को गोली लगी जिनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. इनकी पहचान 34 वर्षीय रॉबर्ट रॉगर्स और 30 वर्षीय जेक्विज ग्रांट के तौर पर हुई है। इसके अलावा, पड़ोस के वालनट हिल्स में तीन लोगों को गोली लगी. वहीं, एवन्डेल में चार लोगों को गोली लगी। जानकारी के मुताबिक हर एक घंटे से डेढ़ घंटे के अंतर पर गोलीबारी की ये घटनाएं हुईं। न्यूडीगेट ने कहा कि ये तीनों घटनाएं एक-दूसरे से अलग लगती हैं लेकिन भयावह हैं. इन घटनाओं में कुल 8 लोगों की जान जा चुकी है, वहीं कुछ की हालत बेहद गंभीर है।...

17 Aug 92 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
पीएम संबोधनः 15 अप्रैल तक पूरा देश लॉकडाउन, पीएम मोदी ने की घोषणा

पीएम संबोधनः 15 अप्रैल तक पूरा देश लॉकडाउन, पीएम मोदी ने की घोषणा...

दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना वायरस जैसी महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश को आज रात 12 बजे के बाद से लॉकडाउन करने का ऐलान किया है। बता दे कि पीएम मोदी ने अपने बयान में ये भी कहा कि उन्हे जनता के 21 दिन चाहिए, यानि पीएम मोदी ने साफ कर दिया है कि अगले 21 दिन तक पूरा देश लॉकडाउन रहेगा। वहीं मोदी ने कहा कि देश के सभी राज्य, केंद्र शासित राज्य, सभी कस्बे, गांव और सभी मोहल्ले एवं गलियों को लॉकडाउन किया गया है। उन्होने इशारों ही इशारों में कहा कि ये लॉकडाउन जनता कर्फ्यू से एक कदम आगे है यानि ये कर्फ्यू जैसा ही है, इसलिए देश का कोई भी व्यक्ति इसे नज़र अंदाज़ ना करें। सभी लोग अपने घरों में ही रहे।...

16 Aug 388 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
'जन्म स्थान' को लेकर विवादों में घिरीं डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति कैंडिडेट कमला हैरिस

'जन्म स्थान' को लेकर विवादों में घिरीं डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति कैंडिडेट कमला हैरिस...

अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति कैंडिडेट कमला हैरिस 'जन्म के मूल स्थान' को लेकर विवादों में घिर गईं हैं। ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सुना है कि हैरिस व्हाइट हाउस में सेवाएं देने की योग्यताएं पूरी नहीं करती हैं। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के बारे में भी इसी प्रकार के विवाद पैदा किए गए थे, जब उनके विरोधियों ने उनके जन्म के स्थान को लेकर सवाल उठाए थे। दरअसल अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने हैरिस (55) को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना है, लेकिन हैरिस के पिता जमैका में पैदा हुए थे और उनकी मां भारतीय थीं। हैरिस के जन्म के मूल स्थान पर सबसे पहले कैलिफोर्निया के अटॉर्नी जनरल के लिए 2010 में रिपब्लिकन प्राइमरी में चुनाव लड़ चुके डॉ. जॉन ईस्टमैन ने 'न्यूजवीक ओप-एड में सवाल उठाए। ट्रंप ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मैंने आज सुना कि उनके पास आवश्यक योग्यता नहीं है और यह बात लिखने वाला व्यक्ति एक अत्यंत प्रतिभाशाली वकील है। मुझे नहीं पता कि यह बात सही है या नहीं।" आपको बता दे कि हैरिस का जन्म 20 अक्टूबर 1964 को कैलिफोर्निया के ओकलैंड में हुआ था। उनकी मां श्यामला गोपालन भारत के तमिलनाडु से अमेरिका आई थीं और उनके पिता डोनाल्ड जे हैरिस जमैका से अमेरिका आए थे। संविधान के अनुसार उपराष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ने के लिए उम्मीदवार का जन्मस्थान अमेरिका होना चाहिए। हालांकि बाइडेन चुनाव प्रचार की राष्ट्रीय वित्तीय समिति के सदस्य अजय भुटोरिया ने इस विवाद को बेबुनियाद करार दिया और कहा कि हैरिस का जन्म 20 अक्टूबर 1964 को ओकलैंड में हुआ था। उन्होंने कहा कि वह देश में जन्मी देश की नागरिक हैं और चुनाव लड़ने के लिए उनके योग्य होने को लेकर कोई सवाल नहीं है।...

16 Aug 314 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
रूस ने कोरोना वैक्सीन की पहली खेप का उत्पादन कर लिया है तैयार

रूस ने कोरोना वैक्सीन की पहली खेप का उत्पादन कर लिया है तैयार...

रूस ने शनिवार को बताया कि उसने कोरोना वैक्सीन की पहली खेप का उत्पादन तैयार कर लिया है, आपको बता दे कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को ऐलान किया था कि रूस ने कोरोना की सफल वैक्सीन तैयार कर ली है जो तमाम जांच से गुजर चुकी है। फिलहाल अमेरिका समेत तमाम देशों ने रूसी वैक्सीन Sputnik V पर सवाल खड़े किए हैं,WHO ने भी रूस की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार रूसी वैक्सीन को अभी कड़े सुरक्षा जांच से गुजरने की जरूरत है। लेकिन रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि गामलेया रिसर्च इंस्टीट्यूट की ओर से तैयार वैक्सीन के पहले बैच का उत्पादन पूरा कर लिया गया है। रूस ने इससे पहले कहा था कि कोरोना वैक्सीन का व्यापारिक उद्देश्यों के लिए उत्पादन सितंबर से शुरू होगा। दिसंबर या जनवरी से रूस हर महीने 50 लाख वैक्सीन की खुराक का उत्पादन कर सकता है। शुरुआत में रूस के हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन की खुराक दी जाएंगी, बाद में वॉलंटियर करने वाले लोगों को वैक्सीन दी जाएंगी. रूस ने यह भी बताया है कि भारत सहित दुनिया के करीब 20 देशों ने Sputnik V वैक्सीन खरीदने में रुचि जताई है। गौरतलब है कि दुनिया में कोरोना संक्रमित होने वाले लोगों का कुल आंकड़ा 2 करोड़ 16 लाख से अधिक हो गया है. रूस कुल संक्रमण के मामले में दुनिया में चौथे नंबर पर है जहां करीब 9.17 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं।...

16 Aug 156 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
27 मार्च तक पूरा उत्तर प्रदेश लाॅकडाउन, जिलाधिकारियों को सीएम ने दिए ये आदेश, पढ़े पूरी खबर

27 मार्च तक पूरा उत्तर प्रदेश लाॅकडाउन, जिलाधिकारियों को सीएम ने दिए ये आदेश, पढ़े पूरी खबर...

महामारी का रूप धारण करते कोरोना वायरस से बचाव हेतु उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत 27 मार्च तक पूरे प्रदेश को लाॅक डाउन कर दिया गया है। इतना ही नहीं लाॅक डाउन का उलंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के भी निर्देश दिए गए हैं। सूत्रों की माने तो जिलाधिकारियों को स्थिति से निपटने के लिए कफ्र्यू तक लगाने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं। आपको बता दें कि अभी तक एनसीआर के नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ समेत प्रदेश की राजधानी लखनऊ, पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी और गोरखपुर समेत कुल 17 जिलों को ही लाॅकडाउन किया गया था, लेकिन लगातार मिल रहे कोरोना वायरस के पाॅजिटिव केसों को देखते हुए सीएम योगी ने ये निर्णय लिया है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय घर में रहना ही है। भीड़ इकट्ठी ना हो, इसके लिए कई राज्य सरकारों ने लॉकडाउन का ऐलान किया था, जिसमें हरियाणा, महाराष्ट्र, केरल और यूपी भी शामिल है। लगभग पूरा देश लॉकडाउन की स्थिति में है, लेकिन इस बीच भी कई लोग लगातार बाहर निकल रहे हैं और सड़कों पर खुलेआम घूम रहे हैं, जिन पर उत्तर प्रदेश में कड़ी कार्रवाई भी की गई है। बावजूद इसके कई लोग घरों से बाहर निकलकर इधर-उधर घूमने से परहेज नहीं कर रहे हैं, जिनको देखते हुए ही प्रदेश सरकार ने ये निर्णय लिया है।...

13 Aug 669 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
सऊदी अरब से लौटे BJP सांसद सुरेश प्रभु,  खुद को किया आइसोलेट

सऊदी अरब से लौटे BJP सांसद सुरेश प्रभु, खुद को किया आइसोलेट...

भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुरेश प्रभु ने खुद को किया है. क्वारंटाइन दरअसल, सुरेश प्रभु 10 मार्च को सऊदी अरब गए थे. इसके बाद जब वह भारत लौटे तो उन्होंने कोरोना वायरस का टेस्ट कराया था. गौरतलब है कि टेस्ट निगेटिव आया, लेकिन उन्होंने खुद को 14 दिन तक आइसोलेशन में रखने का फैसला किया है। देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में काफ़ी तेजी इजाफा हो रहा है. अब तक 141 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. कोरोना के संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच लोगों ने सावधानियां बरतनी शुरू कर दिए हैं. मोदी सरकार में मंत्री रहे और भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद सुरेश प्रभु ने खुद को आइसोलेट किया है. इससे पहले केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने खुद को होम क्वारंटाइन में रखने का फैसला किया था। दरअसल, भारतीय जनता पार्टी के (BJP) सांसद सुरेश प्रभु 10 मार्च को सऊदी अरब गए थे. इसके बाद जब वह भारत लौटे तो उन्होंने कोरोना वायरस का टेस्ट कराया था। गौरतलब है कि टेस्ट निगेटिव आया, लेकिन सुरेश प्रभु ने खुद को 14 दिन तक आइसोलेशन में रखने का फैसला किया है। साथ ही अपने घर पर होम क्वारंटाइन हैं। इस दौरान वह न तो किसी से मिल सकते हैं और न ही कोई उनके पास जा सकता है. एक मेडिकल टीम बकायदा उनके साथ उनके घर पर तैनात की गई है।...

10 Aug 148 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
कोरोना के बाद 'हंता' का खौफ़, जानिए क्या है ये बीमारी

कोरोना के बाद 'हंता' का खौफ़, जानिए क्या है ये बीमारी...

चीन के साथ-साथ दूसरे देश के लोग अभी नोवल कोरोना वायरस की चपेट से बाहर नहीं निकल पाए कि अब और एक हंता नाम के नए वायरस के कहर की खबरें सामने आ रही है। चीन के सरकारी मीडिया संस्थान ग्लोबल टाइम्स के अनुसार चीन के यूनान प्रांत में एक नया वायरस फैल गया है। इस वायरस से एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है, वहीं लोग संक्रमित बताए जा रहे है। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक हंता वायरस से पीड़ित व्यक्ति बस से शाडोंग प्रांत लौट रहा था तभी कोरोना की जांच के दौरान इस वायरस का पता चला. इस बस में 32 लोग थे, जिसको लेकर सभी यात्रियों की जांच की गई। आपको बता दे कि चीन द्वारा यह जानकारी आने के बाद से सोशल मीडिया पर हड़कंप मचा हुआ है। यूएस सेंटर फॉर डिजीस एंड कंट्रोल के मुताबिक हंता वायरस चूहों के मल, मूत्र और थूक में होता है। इससे इंसान तब संक्रमित होता है जब चूहे इसे हवा में छोड़ देते है। हंता वायरस सांस के जरिए शरीर में जाता है। आपको बता दे कि इसके लक्षण में ठंडी लगने के साथ बुखार आता है और मांसपेशियों में दर्द होने लगता है एक दो दिन बाद सूखी खांसी आती है साथ ही सर में भी दर्द होता है, उलटियां होती है और सांस लेने में दिक्कता होती है।...

3 Aug 480 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
कोरोना वायरस से अमेरिका में 10 लाख से ज्यादा, UK में ढाई लाख तक मौत होने की संभवना!

कोरोना वायरस से अमेरिका में 10 लाख से ज्यादा, UK में ढाई लाख तक मौत होने की संभवना!...

कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर यूके में महामारीविदों द्वारा किए गए एक अनुमान के मुताबिक बताया गया कि, वायरस प्रकोप को रोकने और थामने की कोशिश के वजह से यूके के अस्पतोलों में बिस्तर भी कम पर जाएंगे, और लगभग यूके में 2,50,000 और अमेरिका में 10 लाख से ज़्यादा मौतें होने की संभावना है। सीएनएन डॉट कॉम ख़बर के मुताबिक, पीयर-रिव्यूड जर्नल में प्रकाशित नहीं किए गए अध्ययन को सोमवार को लंदन के इम्पीरियल कॉलेज की COVID-19 रेस्पॉन्स टीम ने जारी किया, जिसमें यूके सरकार को इस महामारी से निपटने के लिए रणनीति भी सुझाई गई है. यूके के मानेजाने और विख्यात मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार सर पैट्रिक वॉलेन्स ने मंगलवार को पुष्टि की, इम्पीरियल कॉलेज द्वारा किया गया अध्ययन उन दस्तावेज़ों में शामिल है, जिनका यूके सरकार ख़ुद अध्ययन कर रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की दक्षिण-पूर्वी एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा है कि 'हालात बहुत तेजी से बदल रहे हैं. हमें कोरोना वायरस को और अधिक लोगों को संक्रमित करने से रोकने के लिए प्रयास और तेज करने की जरूरत है.'...

30 Jul 139 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
जियो में दो हफ्तों में दो बड़े निवेश, फेसबुक के बाद ‘सिल्वर लेक’ ने भी किया 5655 करोड़ का निवेश, पढ़े पूरी खबर

जियो में दो हफ्तों में दो बड़े निवेश, फेसबुक के बाद ‘सिल्वर लेक’ ने भी किया 5655 करोड़ का निवेश, पढ़े पूरी खबर...

नई दिल्ली। जियो प्लेटफार्मस् में सिल्वर लेक कंपनी 5655.75 करोड़ रु निवेश करेगी। सिल्वर लेक को इस निवेश के बदले लगभग 1.15% इक्विटी हासिल होगी। इससे पहले 22 अप्रैल को फेसबुक ने जियो में निवेश की घोषणा की थी। सिल्वर लेक के निवेश में जियो प्लेटफॉर्मस् की इक्विटी वैल्यू 4.90 लाख करोड़ आंकी गई है। यह फेसबुक की लगाई गई वैल्यू से 12.5% अधिक है। जियो प्लेटफार्मस्, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। जियो भारत में हाई स्पीड कनेक्टिविटी नेटवर्क के साथ डिटिटल ऐप, डिजिटल इको सिस्टम पर काम करने वाली अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी कंपनी है। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड के नेटवर्क पर 38 करोड़ 80 लाख से अधिक ग्राहक जुड़े हैं। उधर सिल्वर लेक 40 बिलियन डॉलर से अधिक की एसेस्टस दुनिया भर में मैनेज करती है। इसने Airbnb, Alibaba, Ant Financial, Alphabet’s Verily and Waymo units, Dell Technologies, Twitter जैसी अनेकों विशाल कंपनियों में निवेश किया हुआ है। कोरोना वायरस महामारी के कारण जब पूरी दुनिया और भारत गंभीर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहे हैं। तब विश्व की सबसे प्रसिद्ध टेक निवेशकों में से एक- सिल्वर लेक का यह निवेश कई मायनों में महत्वपूर्ण है। कंपनी ने व्यापक डिजिटलीकरण को भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए जरूरी और रोजगार पैदा करने वाला बताया है। सिल्वर लेक के साथ हिस्सेदारी पर टिप्पणी करते हुए, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा, “भारतीय डिजिटल ईको-सिस्टम के विकास के लिए, सिल्वर लेक का एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए मुझे खुशी हो रही है। इससे सभी भारतीयों को लाभ मिलेगा। सिल्वर लेक का वैश्विक स्तर पर अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के साथ साझेदारी का उत्कृष्ट रिकॉर्ड है। सिल्वर लेक प्रौद्योगिकी और वित्त के मामले में सबसे सम्मानित संस्थाओं में से एक है। हम उत्साहित हैं कि हम सिल्वर लेक के वैश्विक संबंधों का लाभ भारतीय डिजिटल सोसाइटी में बदलाव के कर पाएंगे। ” सिल्वर लेक के सह-सीईओ और मैनेजिंग पार्टनर एगॉन डरबन ने जियो की तारीफ करते हुए कहा कि, “Jio Platforms दुनिया की सबसे उल्लेखनीय कंपनियों में से एक है, जिसका नेतृत्व एक अविश्वसनीय रूप से मजबूत और उद्यमशीलता प्रबंधन टीम कर रही है। हम Jio मिशन को आगे बढ़ाने में मदद करने के लिए मुकेश अंबानी और रिलायंस और Jio की टीम के साथ साझेदारी करने के लिए सम्मानित और प्रसन्न महसूस कर रहे हैं।"...

28 Jul 102 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
जियो में इंवेस्ट करेगा फेसबुक 43 हजार करोड़, लेगा करीब 10 फीसदी की हिस्सेदारी

जियो में इंवेस्ट करेगा फेसबुक 43 हजार करोड़, लेगा करीब 10 फीसदी की हिस्सेदारी...

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड और फ़ेसबुक इंक ने आज एक बाइंडिंग अग्रीमेंट पर हस्ताक्षर की घोषणा की है। जिसके मुताबिक फ़ेसबुक ने जियो प्लैटफ़ॉर्म्स में 43,574 करोड़ ($6.22 अरब) का निवेश किया है। फ़ेसबुक के इस निवेश से जियो प्लैटफ़ॉर्म्स की “प्री मनी एंटरप्राइज़ वैल्यू” 4.62 लाख करोड़ ($65.95 अरब) है। कन्वर्ज़न रेट 70 रुपये प्रति डॉलर माना गया है। फ़ेसबुक के निवेश के बाद उसे जियो प्लैटफ़ॉर्म्स में 9.99% की हिस्सेदारी (“फ़ुली डायल्यूटेड बेसिस” पर) मिल जाएगी। जियो प्लैटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की “फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी” है। ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर #1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लैटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की “होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी” बनी रहेगी। जियो एक ऐसे “डिजिटल भारत” का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच एहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जियो ने विश्व स्तरीय डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म बनाने की प्रक्रिया में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया है जिनमें शामिल हैं – ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, स्मार्ट डिवाइसेज़, क्लाउड और एज कंप्यूटिंग, बिग डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स, ऑग्मेंटेड रिएलिटी, मिक्स्ड रिएलिटी और ब्लॉकचेन।...

20 Jul 112 ने देखा

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India