20 October 2020 , Tuesday
Login  
Home -> लाइफ स्टाइल-फैशन

रिपोर्ट : स्निग्धा श्रीवास्तव
प्रोड्यूसर | नोएडा
संवेदनशील त्वचा के लिए करे ये उपाय , रेडनेस स्किन से मिलेगा आराम

संवेदनशील त्वचा के लिए करे ये उपाय , रेडनेस स्किन से मिलेगा आराम...

यदि आपकी स्किन सेंसिटिव है, तो धूप या थोड़ा सा खुजली करने पर भी आपकी स्किन लाल पड़ जाती है। हालांकि, स्किन रेडनेस के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे तीव्र कसरत करना, धूप में निकलना, त्वचा के मुंहासे और वैक्सिंग। यह सभी चीजें आपकी स्किन की रेडनेस को बढ़ा सकती हैं लेकिन इनमें से कुछ कारण अस्थायी हो सकते हैं और हल्के प्रभाव डाल सकते हैं, जबकि त्वचा की समस्याओं जैसे सोरायसिस के लिए एक्‍सपर्ट से ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। ऐसी समस्‍या पर आप घरेलू उपचार के बजाय स्किन रेडनेस का इलाज एक्‍सपर्ट से कराएं। इसके अलावा, आपको ट्रीटमेंट से पहले स्किन रेडनेस के पीछे के कारण को जानना महत्वपूर्ण है। कई बार स्किन रेडनेस आपकी किसी फूड एलर्जी के कारण हो सकती है, जो कि एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण होता है। कभी-कभी यह टूटी स्किन सेल्‍स के कारण भी हो सकता है। लगातार गुलाबी या लाल स्किन का होना एक बड़ा चेतावनी संकेत हो सकता है। इसके लिए आपको हमेशा स्किन एक्‍सपर्ट से ट्रीटमेंट की जरूरत है। हालाँकि, घरेलू उपचार आपकी अस्थायी रहने वाली स्किन रेडनेस में राहत दिला सकते हैं। आइए यहां हम आपको स्किन रेडनेस और बर्निंग को शांत करने के कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं। - जब आपकी स्किन के किसी हिस्‍से में ब्‍लड वैसेल्‍स यानि रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती हैं, तो रक्त प्रवाह बढ़ने से त्वचा लाल हो जाती है। इसलिए कोल्‍ड कंप्रेस की मदद से इसका इलाज किया जा सकता है। यह एक ठंडा सेक होता है, जिसमें एक प्लास्टिक बैग में कोल्‍ड वाटर या आइस से ठंडा सेक दिया जाता है। इसके अलावा, एक साफ कपड़े में बर्फ के टुकड़ों को रखकर भी यह किया जा सकता है। आपको केवल 5-5 मिनट के लिए प्लास्टिक बैग को प्रभावित जगह पर लगाना है। यह तुरंत आपको राहत दिलाएगा। आप इसे 2-3 बार या आवश्यकता के अनुसार दोहराएं। - रोजवॉटर त्‍वचा के लिए एक गुणकारी घटक है, जो कि संवेदनशील त्वचा के लिए सबसे अच्‍छा है। रोजवॉटर में शीतलन गुण होते हैं, जो त्वचा की लालिमा को शांत करते हैं। आप अपनी त्वचा को शांत करने के लिए ककड़ी या खीरे के रस को एक चम्मच शहद और रोजवाटर को मिलाएं। अब आप रेडनेस के लिेए इस मास्क अपनी संवेदनशील त्वचा पर लगाएं। यह आपको जल्‍द स्किन रेडनेस से राहत देगा। - एप्पल साइडर विनेगर स्किन रेडनेस से राहत पाने के लिए काफी प्रभावी हो सकता है। एप्‍पल साइडर विनेगर आपकी सेहत से लेकर त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखने में प्रभावी है। आप एप्‍पल साइडर विनेगर को अपनी त्‍वचा पर पानी के साथ पतला करके कॉटन की मदद से लगा सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप इसे पानी से पतला करते ही लगाएं और सीधे अकेला न लगाएं। क्‍योंकि यह एक मजबूत घटक है और इसे सीधे त्वचा पर इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। पानी एप्‍पल साइडर विनेगर के लगभग 4 चुना होना चाहिए, जिसके बाद आप इसे प्रभावित क्षेत्र पर स्प्रे करें। इसे अवशोषण के लिए फेस कॉटन पैड इस्‍तेमाल करें।...

24 Sep 826 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
राजधानी में जिम खुलने से खुश हुए जिम मालिक, मिठाई बांटकर जाहिर की खुशी

राजधानी में जिम खुलने से खुश हुए जिम मालिक, मिठाई बांटकर जाहिर की खुशी...

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की वजह से लंब समय से बंद पड़े जिम अब खुल गए हैं, जिसको लेकर जिम मालिकों में खुशी का माहौल है। जिम मालिकों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर सरकार के फैसले का स्वागत किया, साथ ही सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक जिम खोलने की बात कही।आपको बता दे कि करीब 6 महीने से बंद जिम को एक बार खोलने के आदेश मिल गया है। जिसकी खुशी में उन्होंने जिम में मिठाइयां बांटी। इस दौरान जिम मालिक ने कहा कि सरकार ने जो भी गाइडलाइंस जारी की हैं उन सब का पालन किया जाएगा,मसलन जिम खुलने के बाद जिम करने के लिए लोग आने भी शुरू हो गए। ऐसे में जिम में प्रवेश से पहले टेंपरेचर चेक करना, ऑक्सीजन चेक करना और इसके बाद अपने हाथों को सेनेटाइज़ करने के बाद ही प्रवेश की अनुमति है। इतना ही नहीं जिम करने के दौरान भी मास्क पहनना अनिवार्य है। जिम की मशीनों को भी लगातार सेनीटाइज किया जा रहा है।...

15 Sep 1K ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
बारिश के मौसम में ऐसे रखें बालों का ख्याल

बारिश के मौसम में ऐसे रखें बालों का ख्याल...

मौसम बदलते ही सेहत के साथ- साथ बालों पर इसका असर पड़ता है। वैसे भी बाल तो महिलाओं की खूबसूरती का एक हिस्सा माना जाता है। बारिश के मौसम ने गर्मी से राहत तो मिलती है मगर चिपचिपी गर्मी से बाल और भी रुखे औऱ बेजान होने लगते है। ऐसे समय में बालों का विशेष ध्यान रखना तो बनता है। लेकिन आपको बालों के लिए बस इन 5 टिप्स को आज़माना है- - अगर आपको बाहर जाना पड़ता है, तो स्कार्फ, छाता, टोपी जैसी चीज़ साथ रखें, ताकि बाल सूखे और सुरक्षित रहें। - मानसून में समय-समय पर हेयरकट करवाना न भूलें। समय पर ट्रिमिंग से आप दो मुंहें और रूखेपन से बालों को बचा सकती हैं। -. बारिश के मौसम में अपने सिर और बालों को हमेशा साफ रखें। समय- समय पर शैम्पू का इस्तेमाल करें और स्कैल्प को भी अच्छी तरह साफ करें। शैम्पू के बाद कंडिशनर का इस्तेमाल करना न भूलें। ये न सिर्फ आपके बालों को पोषण देता है, बल्कि बालों में जान भी डालता है। - बारिश के मौसम में ऐसा हेयरकट करवाएं, जिसमें बालों को सुलझाना मुश्किल न हो और फ्रिज़ी भी न हों। इसस मौसम में आप पोनीटेल, जूड़ा या चोटी बनाकर रखें। -बालों को धोने के बाद माइक्रो-फाइबर तौलिए का इस्तेमाल करें। इससे बाल कम टूटते हैं। अगर आपके बाल ज़्यादा उलझते हैं, तो इन्हें सीरम की मदद से सुलझाया जा सकता है।...

28 Aug 611 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
प्रबोधिनी फाउंडेशन ने सरकारी कार्यालयों में किया गिलोय का वितरण

प्रबोधिनी फाउंडेशन ने सरकारी कार्यालयों में किया गिलोय का वितरण...

वाराणसी में प्रबोधिनी फाउंडेशन के तत्वावधान में मण्डल रेल प्रबन्धक कार्यालय लहरतारा, लोहता थाना, लोहता प्राथमिक स्वास्थ उपकेन्द्र, लोहता बाजार समेत अन्य सरकारी कार्यालयों में गिलोय का वितरण किया। साथ ही औषधी आधारित पौधो का रोपण किया गया। दरअसल, वैश्विक महामारी को देखते हुए जन जागरुकता अभियान के तहत प्रबोधनी फाउंडेशन के महासचिव विनय शंकर राय “मुन्ना” के नेतृत्व में गिलोय का वितरण एवं औषधी आधारित पौधो का वरोपण किया गया। गिलोय वितरण एवं वृक्षारोपण अभियान में गगन प्रकाश यादव, समीर मिश्रा, राहुल सिह,समेत अन्य समाजसेवी मौजूद रहे। इस दौरान विनय शंकर राय ने कहा कि गिलोय वितरण का अभियान अनवरत चलेगा साथ ही औषधि आधारित पौधों का संरक्षण एवं वृक्षारोपण का कार्य भी लगातार प्रबोधिनी फाउंडेशन संकल्प के साथ करती रहेगी। क्योकि स्वस्थ भारत के निर्माण के लिए भारतीय औषधियो की उपयोगिता के लिए जन अभियान चलाना आवश्यक है। बताया कि गिलोय लोगो के घरों, कार्यालयों एवं अगल-बगल सर्वसुलभ है लेकिन पौधे की पहचान और ना ही अधिकाश लोगों को गिलोय के महत्व की जानकारी है।...

20 Aug 168 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
घर बैठे ही बिना किसी इक्वीपमेंट के करें ये वर्कआउट

घर बैठे ही बिना किसी इक्वीपमेंट के करें ये वर्कआउट...

कोरोना महामारी के समय ज्यादात्तर लोंग अनलॉक प्रोसेस के बाद भी घर से ही वर्क कर रहें है, ऐसे में उन्हें मोटामा की समस्या का सामना कर पड़ सकता है। क्योकि इस समय जिम या योगा सेंटर्स को खोलने की इजाजत तो दे दी गई है लेकिन अभी लोगों में ऐसी जगहों पर जाने को लेकर थोड़ा डाउट बना हुआ है। ऐसे में हम लाए हैं कुछ ऐसे वर्कआउट्स की जानकारी जिन्हें घर पर बिना किसी इक्विपमेंट की मदद लिए आसानी से किया जा सकता है। - अगर आप कार्डियो वर्कआउट करने की शुरूआत कर रहे हैं तो घर पर पॉप स्क्वॉट से स्टार्ट कर सकते हैं, जो काफी फायदा पहुंचाता है। इसे करने के लिए आप सबसे पहले जमीन पर पैरों को चौड़ा करते हुए सीधे खड़े हो जाएं, अब दोनों हाथों को नमस्ते वाली पोजिशन में ले आएं और कुछ ऊंचाई तक कूदने की कोशिश करें। जब आप कूद कर नीचे आएं तो रूके नहीं बल्कि नीचे आने के साथ ही बैठने की पोजिशन में जाएं और एक हाथ को खोलकर जमीन छुएं। इसके बाद वापस हाथों को पहले वाली पोजिशन में ले आएं। अब खड़े होते हुए कूदें और 180 डिग्री पर घूमें, ऐसे आप दूसरी तरफ घूम जाएंगे, अब फिर से वही प्रोसेस दोहराएं, पहले इसे धीरे-धीरे करें, जब बैलेंस बनने लगे तो आप इसमें तेजी ला सकते हैं। - इस कार्डियो वर्कआउट के लिए सबसे पहले पुशअप्स वाली पोजिशन में आ जाएं और अपने हाथों को जमीन के अपोजिट एकदम सीधा कर लें। अब लोअर बॉडी या पैरों को उठाते हुए आगे की दाईं ओर लाने की कोशिश करें यानि अपने पैरों को दाईं कोहनी के पास लाएं। ध्यान रहे इसमें आपको थोड़ा पैरों को कूदाने की जरूरत होगी। वापस पहले वाली पोजिशन में आ जाने के बाद फिर से दूसरी यानी बाईं कोहनी की तरफ कूदने की कोशिश करें और पैरों को उस जगह लाएं। इसके 20 बार करें। - जमीन पर अपने पैरों को कूल्हे की चौड़ाई से अलग रखें और नीचे झुकें। दोनों हाथों को फर्श पर रखें और हाथों को आगे बढ़ाते हुए पुशअप पोजिशन में आ जाएं। इस पोजिशन में आपके कूल्हे पूरी तरह से उठे हुए होने चाहिए और पूरी बॉडी को खिंचाव मिलना चाहिए। इसके बाद वापस अपने हाथों के सहारे पीछे आने की कोशिश करें। जब आप अपने पंजों के पास पहुंच जाएं तो सीधे खड़े हो जाएं। -जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं, अपने पैरों को कूल्हों की चौड़ाई में रखें और नीचे झुककर दोनों हाथों को फर्श पर रखकर पैरों को हल्के से जमीन की ओर लाएं, अब स्क्वाट करते हुए पैरों को पीछे की ओर फेंकते हुए पुशअप्स पोजिशन में आएं और फिर वापस सीधे खड़े हो जाएं। ये आपके कार्डियो वर्कआउट के लिए सबसे आसान और मजेदार एक्सरसाइज है, जिसे आप आसानी से कर सकते हैं।...

18 Aug 247 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
पोषण से भरपूर है ये पंचरत्न दाल, सही पाचन के साथ-साथ बिमारियों को भी करता है दूर

पोषण से भरपूर है ये पंचरत्न दाल, सही पाचन के साथ-साथ बिमारियों को भी करता है दूर...

हम सभी जानते है कि हर तरह के भोजन का अलग ही महत्व है। किसी के ज्यादा फायदे तो किसी के कम मगर भारतीय भोजन स्वादिष्ट होने के साथ- साथ हेल्दी भी होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दालों को मिलाकर बनी मिक्स दाल यानि पंचरत्न दाल के कितने फायदे हैं, जो आपकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर कर आपको सेहतमंद बनाए रखते हैं। जी हां, यकीन नहीं होता तो लेकिन मिक्स दाल के तमाम फायदे है। -अगर आपको कोई दाल स्वाद में बिल्कुल भी पसंद नहीं है, तो आप इसे पंचरत्न दाल में शामिल कर बना सकते हैं। यह आपको बेहतरीन स्वाद के साथ पोषण और स्वास्थ्य लाभ भी देगी। इससे आपको भरपूर मात्रा में केल्शियम, फास्फोरस, आयरन, प्रोटीन,आयरन,कार्बोहाइड्रेट, मैग्नीशि‍यम एवं अन्य खनिज लवण प्राप्त होते हैं। - मिली जुली दाल या मिक्स दाल खाने का सबसे बड़ा फायदा यह है, कि इससे आपके शरीर को अलग-अलग दालों में मौजूद पोषक तत्व एक साथ मिल जाते हैं, जो आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा आप किसी दाल विशेष से होने वाले नुकसान से भी बच जाते हैं। - मिली जुली दाल को खाने में शामिल कर आप पाचन संबंधी समस्याओं से बच सकते हैं, और तबियत खराब होने पर शारीरिक कमजोरी को दूर कर यह दाल आपके शरीर को ताकत देने का काम करती हैं। सभी पोषक तत्व मिलकर पोषण प्रदान करते हैं। - चूंकि यह दाल सभी प्रकार की दालों को मिलाकर बनाई जाती है, इसलिए इसके फायदे भी मिलेजुले और अधि‍क होते हैं। यह आपके वजन को बढ़ने से रोकती है और कफ, पित्त जैसी समस्याओं को दूर करती है। इसमें राजमा होने पर यह किडनी के लिए भी फायदेमंद होती है। - यह रक्त के विकारों को दूर कर आपकी त्वचा को साफ बनाए रखने में मदद करती है। इसके अलावा आपकी आंखों की रौशनी को बेहतर कर बालों को मजबूती और चमक प्रदान करती हैं। यह आपके चेहरे पर चमक लाने का काम भी करती है। मसूर की दाल सौंदर्य बढ़ाने में सहायक होती है और उड़द दाल का प्रयोग आपको जवां बनाए रखती है। - यह दाल पाचन के मामले में सुपाच्य और काफी पौष्‍ट‍िक होती है। साथ ही बुखार और कुछ शारीरिक समस्याओं में लाभ देती हैं। मूंग की दाल से पाचन समस्याएं समाप्त होती हैं और इसमें भरपूर फाइबर होने से आपका वजन भी कम होता है। -अरहर की दाल इसमें शामिल होने से आप डाइबिटीज 2, कैंसर, दिल की बीमारियों से बचे रह सकते हैं। साथ ही रीढ़ की हड्ड‍ी संबंधी समस्याएं भी समाप्त होती हैं। यह दिमाग के लिए भी फायदेमंद है। -वहीं चने की दाल को इसमें शामिल कर आप एनीमिया, पीलिया, कब्ज व बालों की समस्याओं से बच सकते हैं। इसमें फाइबर की मात्रा भरपूर होती है, जो आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करती है। - अगर आप शाकाहारी हैं, तो मिली जुली दालों से आपको वे सारे फायदे मिल सकते हैं, जो नॉनवेज खाने से प्राप्त होते हैं। इसके अलावा आप सर्दी, गले की समस्याओं से भी बचे रह सकते हैं। खास तौर से मसूर की दाल, चिकन और मटन के सभी गुणों से भरी होती है। - अगर आप माइग्रेन, रक्तचाप, हृदय रोग या फिर डाइबिटीज के रोगी हैं, तो मिली जुली दालों का सेवन आपके लिए फायदेमंद होगा। इतना ही नहीं गर्भवती महिलाओं के लिए मिक्स दाल का सेवन करना बेहद लाभदायक होता है। इससे गर्भस्थ शिशु को सभी प्रकार के पोषक तत्व मिल जाते हैं।...

17 Aug 358 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
कोरोना महामारी के बीच बदलते मौसम में अपने स्वास्थ्य का ऐसे रखें ख्याल

कोरोना महामारी के बीच बदलते मौसम में अपने स्वास्थ्य का ऐसे रखें ख्याल...

हम सभी जानते है मौसम में हो रहे बदलाव के कारण सर्दी- जुकाम की संभावना बढ़ जाती है, और उस वक्त जब देश में कोरोना महामारी फैली हो तो हमें अपने स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखना पड़ रहा है। इन दिनों मौसम में तेजी से बदलाव आ रहा है। दिन में पारा सामान्य है तो रात और सुबह के समय सामान्य से कम दर्ज किया जा रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की जरूरत है। जरा सी लापरवाही स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकती है। तापमान में हुई कमी और मौसम में बदलाव के कारण सर्दी- जुकाम के साथ-साथ डेंगू और मलेरिया का भी खतरा बना हुआ है। इसलिए आइए जानते है कि इस मौसम में स्वास्थ्य का विशेष ध्यान कैसे रखा जाए- -स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार बदलते मौसम में इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। ऐसे में सर्दी जुकाम और बुखार की परेशानी आम बात है। ऐसे मौसम में खानपान तथा रहन-सहन के मामले में खास ध्यान देने की जरूरत होती है। सर्दी होने पर गर्म पेय पदार्थों का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए। -गर्मी होने पर खूब पानी और अन्य पेय पदार्थों का सेवन करना चाहिए। ऐसे मौसम में वायरल बुखार के मामले सबसे अधिक बढ़ते हैं। बड़ों के साथ बच्चे भी वायरल बुखार की चपेट में आ रहे हैं। इस मौसम में बच्चों तथा बुजुर्गों को एहतियात बरतने की जरूरत है। - कभी सर्द तो कभी गर्म मौसम होने के कारण सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियां लोगों को परेशान कर रही हैं। सबसे पहले बच्चे इनकी चपेट में आते हैं। - बदलते मौसम में संक्रमण का खतरा होता है। ऐसे में सूती वस्त्र ही पहनना चाहिए। - पौष्टिक आहार लेना चाहिए, इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पर्याप्त पानी पीना चाहिए। - ठंडे पदार्थों का सेवन कम से कम करना चाहिए क्योकि बदलते मौसम में यह आपके सर्दी जुकाम का कारण बन सकता है। - अगर सिर दर्द या बुखार महसूस हो तो अपनी मर्जी से दवा न लें। विशेषज्ञ चिकित्सक की सलाह से ही लें। - सुबह की सैर के साथ-साथ योग भी अच्छा व्यायाम होता है। बदलते मौसम में नियमित योग करना चाहिए। - मौसम बदलते समय खांसी एवं फेफड़ों से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इससे पीडि़त मरीज को रोजाना भाप लेने के साथ नमक मिले गुनगुने पानी से गरारे करना चाहिए।...

16 Aug 223 ने देखा
रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा
कोरोना महामारी में भी कुछ ऐसे बढ़ाए बच्चों का मनोबल

कोरोना महामारी में भी कुछ ऐसे बढ़ाए बच्चों का मनोबल...

हम सभी जानते हैं कि कोरोना महामारी की वजह से बच्चे काफी दिनों से घरो में कैद है, उनका स्कूल तो क्या खेलना और कूदना भी मना ही है, ऐसे में बच्चे घरों में रहकर स्कूल के सभी कार्यक्रमों से वंचित हो गए है। ऐसे में उनका उत्साह और मनोरंजन घर बैठकर ही हम आसानी से कर सकते है तथा उनको 15 अगस्त के महत्ता भी समझा सकते है। हालांकि स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेज के माध्यम से एक्टीविटी क्लासेज और फ्लैग होस्टिंग की जा रही हैं। इसके अलावा आप स्वयं भी अपने बच्चे को देशभक्ति संगीत और नृत्य की विडियो बनाकर सोशल मिडिया के माध्यम से और भी रुचिकर बना सकते हैं। माता-पिता अपने बच्चों को घर पर ही स्पीच तैयार करा कर उन्हें तमाम सोशल मिडिया पर हो रहे प्रतियोतिया में भाग दिलाकर उनका मनोबल बढ़ा सकते हैं।...

14 Aug 214 ने देखा
रिपोर्ट : अर्जुन सिंह
ब्यूरो हेड | आगरा
आगराः पीपीई किट पहनकर मेकअप आर्टिस्ट ने किया दुल्हन का श्रृंगार

आगराः पीपीई किट पहनकर मेकअप आर्टिस्ट ने किया दुल्हन का श्रृंगार...

आगरा। पीपीई किट पहन कर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करते डॉक्टर तो आपने देखे होंगे लेकिन पीपीई किट पहन कर मेकअप आर्टिस्ट द्वारा दुल्हन का श्रृंगार ये अभी सुना भी नही होगा जी हां हम बात कर रहे है ताज नगरी आगरा की जहां कोरोना वायरस से बचाव के लिए मेकअप आर्टिस्ट द्वारा पीपीई किट पहन कर दुल्हन का श्रृंगार किया गया। दुल्हन को सैनिटाइज किया गया, ब्यूटीशियन ने पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (पीपीई) किट पहनी, मास्क लगाया, दस्ताने पहने... और तब जाकर मेकअप किया.....ये सब कोरोना से बचाव के लिए किया गया..... कोविड-19 की दहशत के बीच ब्यूटीशियन ने दुल्हन के श्रृंगार करने का तरीका निकाला है.....श्रृंगार के दौरान दुल्हन की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया.....ब्यूटीशियन स्वाति भाटिया ने बताया कि नाई की मंडी निवासी युवती की शादी है जिनका मेकअप किया गया है.....उनको ब्यूटी पार्लर नहीं बुलाया,बल्कि उन्हें अपने घर पर बुलाया गया,अन्य युवतियों का मेकअप किया गया लेकिन एक -एक कर सबको बुलाया, और सामाजिक दूरी का पालन किया गया.....मेकअप आर्टिस्ट ने बताया कि पीपीई किट और मास्क इसलिए पहने ताकि संक्रमण का डर न रहे..... दुल्हन ने मेकअप पूरा होते ही मास्क लगा लिया....नार्थ ईदगाह निवासी स्वाति भाटिया का कहना है कि कोरोना से बचाव भी करना है और शादी-विवाह में मेकअप भी जरूरी है..... ऐसे में पीपीई किट, मास्क, दस्तानों का इस्तेमाल करना ही होगा... आपको बता दें कि कोरोना वायरस के बीच सरकार ने शादियों की छूट दी है.....शादी में शामिल होने के लिए 50 लोगों की अनुमति दी गई है....लेकिन संक्रमण से सुरक्षा के साथ दुल्हन का श्रृंगार करने का ये तरीका शहर में चर्चा में है...

6 Jul 129 ने देखा
रिपोर्ट : अमित सैनी
|
जियो और स्नैपचैट ने शुरू किया भारत का पहला 10 सेकेंड क्रिएटिव चैलेंज-जियो गॉट टेलेंट

जियो और स्नैपचैट ने शुरू किया भारत का पहला 10 सेकेंड क्रिएटिव चैलेंज-जियो गॉट टेलेंट...

नई दिल्ली: जियो और स्नैपचैट ‘जियो गॉट टैलेंट’ के नाम से एक क्रिएटिव चैलेंज शुरू करने जाने जा रहे हैं जिसके तहत स्नैपचैट के उपभोक्ता अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ अपनी प्रतिभा दिखा सकते हैं और इसमें विजेता को एक अन्य के साथ थाइलैंड में छुट्टियां बिताने का मौका मिलेगा।   जियो और स्नैपचैट ने ‘स्नैपचैट लेंस’ शुरू किया है जो उपभोक्ताओं को माइक, हेडफोन और लाइट रिंग का इस्तेमाल करने की सुविधा देते हैं।          इस चैलेंज में भाग लेने के लिए उपभोक्ता को अधिकतम दस सेकेंड का एक वीडियो रिकॉर्ड करना होगा जिसमें ‘जियो गॉट टैलेंट’ के तहत स्नैपचैट पर वह अपनी प्रतिभा दिखाएगा। इसके बाद, प्रतिभागी को वीडियो में स्नैपचैट या स्नैपकोड यूजर नेम वीडियो के कैप्शन में डाल कर उसे ‘आवर स्टोरी’ के नाम से स्नैपचैट पर अपलोड करना होगा जिससे लोग उसे देख सकें।   सबसे मजेदार और क्रिएटिव कंटेट को जियो की तरफ से पुरस्कार दिये जाएंगे। यह चैलेंज रविवार 26 जनवरी 2020 से मंगलवार चार फरवरी 2020 तक जारी रहेगा। प्रथम पुरस्कार विजेता को एक अन्य के साथ थाईलैंड जाने का टिकट दिया जाएगा। अन्य पुरस्कारों में जियो का रिचार्ज शामिल है। इस बारे में पूरी जानकारी जियो की वेबसाइट पर भी दी गयी है।...

5 Jul 248 ने देखा

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India