IAS बी चंद्रकला के घर अवैध खनन मामले में CBI की छापेमारी

शनिवार को आईएएस अफसर बी.चन्द्रकला के लखनऊ आवास के साथ-साथ कई ठिकानों पर यूपी के हमीरपुर में हुए अवैध खनन के मामले में CBI की टीम ने छापेमारी की. सीबीआई टीम ने घर से् कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए हैं. फिलहाल लखनऊ के सफायर अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 101 में सीबीआई की टीम मौजूद है. जहां छापेमारी की कार्रवाई जारी है. वहीं सीबीआई की एक टीम हमीरपुर में छापेमारी कर रही है. जहां टीम ने 2 बड़े मौरंग व्यवसायियों के घरों में छापेमारी की है. रमेश मिश्रा और सत्यदेव दीक्षित़ हमीर पुर शहर के बड़े मौरंग व्यापारी है. इस दौरान टीम ने बेड और सोफे को खोलकर जांच की जा रही है. सीबीआई की 15 सदस्यीय टीम कार्रवाई में जुटी हुई है.

जानकारी के मुताबिक समाजवादी सरकार में बी.चन्द्रकला आईएएस की पोस्टिंग पहली बार हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर की गई थी. बतायाजा रहा है की इस आईएएस ने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर जिले में 50 मौरंग के खनन के पट्टे किए थे. जबकि ई-टेंडर के जरिए मौरंग के पट्टों पर स्वीकृति देने का प्रावधान था लेकिन बी.चन्द्रकला ने सारे प्रावधानों की अनदेखी की थी. और वर्ष 2015 में अवैध रूप से जारी मौरंग खनन को लेकर हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी. हाईकोर्ट ने 16 अक्टूबर 2015 को हमीरपुर में जारी किए गए सभी 60 मौरंग खनन के पट्टे अवैध घोषित करते हुए रद्द कर दिए थे.

याचिका कर्ता विजय द्विवेदी के अनुसार मौरंग खदानों पर पूरी तरह से रोक लगाने के बाद भी जिले में अवैध खनन खुलेआम किया गया. जिसके बाद 28 जुलाई 2016 को सभी शिकायतें और याचिका पर सुनवाई करते हुये हाईकोर्ट ने अवैध खनन की जांच सीबीआई को सौंप दी थी. और सीबीआई तभी से लगातार जांच कर रही थी.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com