AMU में लगी पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद

ब्यूरो रिपोर्ट, अलीगढ़

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के छात्रसंघ के हॉल में लगी पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। नया घटनाक्रम ये है कि हॉल से जिन्ना तस्वीर को फिलहाल हटा दिया गया है। तर्क दिया गया कि परिसर की सफाई चल रही है, इसलिए तस्वीरों को हटाया गया है। यूनिवर्सिटी से जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए अलीगढ़ में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने यूनिवर्सिटी के बाहर प्रदर्शन भी किया। इन्हें हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। वहीं, यूनिवर्सिटी से जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए अलीगढ़ में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने यूनिवर्सिटी के बाहर प्रदर्शन भी किया है। इन्हें हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। AMU छात्र संघ के सज्जाद सुभान राथर का कहना है कि सफाई की वजह से जिन्ना की ही नहीं दूसरी तस्वीरों को भी हटाया गया है। सज्जाद ने साफ किया कि सफाई का काम जिन्ना समेत सभी तस्वीरों को दोबारा उनके अपने स्थान पर ही लगाया जाएगा। इस बीच अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने कहा कि एएमयू के वीसी को इस संबंध में उनके द्वारा चिट्ठी लिखे जाने के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन हरकत में आया। योगी सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य की ओर से जिन्ना की तस्वीर को हटाने की मांग को बेतुका बताए जाने पर गौतम ने कहा, 'ये उनका निजी बयान है और उसका पार्टी से कोई लेना देना नहीं है. वो कुछ भी बोले उनके बयान पर क्या करना है वो संगठन देखेगा। वे अलीगढ़ से सांसद हूं, उनकी जिम्मेदारी अलीगढ़ की है, बाकी कौन क्या बोल रहा है उसकी जिम्मेदारी उनकी नहीं है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com