कैराना उपचुनाव का काउंटडाउन शुरू

ब्यूरो रिपोर्ट, समाचार टुडे

कैराना उपचुनाव का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। इसी के साथ सब दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। बीजेपी के लिए तो ये सीट खास तौर पर प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गई है। इस सीट को हर हाल में जीतने की कोशिश में लगी बीजेपी की ओर से मंगलवार को खुद सीएम योगी ने मोर्चा संभाला। सीएम योगी ने अखिलेश पर निशाना साधते हुए कहा कि वह पश्चिमी यूपी के लोगों में अंधविश्वास फैला सकते हैं लेकिन विकास के कामों को लेकर विश्वास नहीं पैदा कर सकते। पहले यहां पलायन होता था, लेकिन अब यहां पलायन नहीं निवेश होगा।  उन्होंने कहा कि बीजेपी यूपी को डार्क जोन से मुक्त करने जा रही है। योगी ने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं होता है। पिछली सरकारों ने जाति और धर्म के नाम पर लोगों को बांटा था। बीजेपी सबको साथ लेकर चलती है। जातिवाद, मजहब और तुष्टिरण की राजनीति अब बीजेपी को नहीं रोक सकती है। कैराना में विकास की जीत होगी। वहीं, अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश में इतनी कूवत नहीं है कि वो सहारनपुर आकर चुनाव प्रचार करें, क्योंकि उनके हाथ खून से सने हैं। योगी ने कहा कि कहा कि पिछली सरकारों ने चीनी मिलों को बेच दिया। यह सरकार बंद चीनी मिलें चलवा रही है। बीजेपी सरकार गन्ना किसानों के स्वाभिमान की रक्षा करेगी। किसानों के साथ अत्याचार नहीं होने दिया जाएगा। सीएम ने यह भी कहा कि वह लोगों से निवेदन करना चाहते हैं कि उन्होंने बीजेपी को चुना है। बता दें कि कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर 28 मई को वोटिंग होगी और मतगणना के लिए 31 मई की तारीख तय की गई है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद हुकुम सिंह के फरवरी में निधन के बाद कैराना सीट खाली होने के कारण ये चुनाव कराए जा रहे हैं। बीजेपी ने कैराना में हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को प्रत्याशी बनाया है। नूरपुर में दिवंगत विधायक लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह को टिकट दिया है। इसी साथ विपक्ष ने यही दांव चलते हुए कैराना में पूर्व सांसद मनव्वर हसन की पत्नी तबस्सुम हसन को टिकट दिया और नूरपुर में 2017 के विधानसभा चुनाव में चंद वोटों से हारे नईमुल हसन को चुनाव में उतार दिया। 

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com