JDS और कांग्रेस के गठबंधन में ‘दरार’, मुश्किल में फंस सकती है कुमारस्वामी सरकार

कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस में मतभेद के बीच बीजेपी में हलचल बढ़ गई है. बेंगलुरु में आज राज्य बीजेपी की अहम बैठक होगी. ये स्टेट एक्ज़ीक्यूटिव की विधानसभा चुनाव के बाद होने वाली पहली बैठक है. कहा जा रहा है कि इस बैठक में जेडीएस और कांग्रेस में मतभेद के बाद पैदा हुई स्थिति पर चर्चा होगी और पार्टी अपनी आगे की रणनीति तैयार करेगी. राज्य में पार्टी के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि बैठक में केंद्र सरकार की चार साल की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने की भी रणनीति बनाई जाएगी. साथ ही अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों पर भी मंथन होगा और रणनीति बनाई जाएगी. गौरतलब है कि पिछले दिनों हुए चुनावों में बीजेपी हालांकि सबसे बड़ी पार्टी के रुप में उभरी थी, लेकिन सरकार नहीं बना पाई और इस समय राज्य में कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार है. 

कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन समन्वय समिति के अध्यक्ष सिद्धारमैया,  राज्य में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन बनने के बाद मैंगलौर के पास उज्जिर में प्राकृतिक चिकित्सा के लिए चले गए थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह राजनीति से पूरी तरह दूर हैं. हालांकि, उन्होंने अपने करीबी नेताओं से मुलाकात की और उनकी 'निजी' बातचीत मीडिया में भी लीक हो गई.

न्यूनतम साझा कार्यक्रम की मसविदा समिति के सदस्यों एवं उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से उन्होंने कहा, "आप नहीं जानते हैं कि मैंने किस संदर्भ में कहा है, किसी को पता नहीं है. ऐसे में मेरा उससे क्या मतलब. हमने सांप्रदायिक बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए गठबंधन सरकार बनाई है. गठबंधन सरकार स्थिर होगी और उसमें कोई संदेह नहीं है. यह स्थिर होगी." 

सिद्धारमैया कांग्रेस द्वारा उन्हें अनदेखा कर जेडीएस से सीधे बातचीत करने की वजह से पार्टी हाईकमान से नाराज हैं, लीक ऑडियो और वीडियो के माध्यम से उन्होंने अपनी नाराजगी सार्वजनिक कर दी. बताया जा रहा है कि इसके बाद कुमारस्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाधी से शिकायत कर सिद्धारमैया पर नियंत्रण रखने की मांग की थी.
गठबंधन में दरार की खबरों के बीच दोनों दलों ने समन्वय समिति की बैठक बुलाई है जिसमें इस मुद्दे पर मुख्य रूप से चर्चा की संभावना है. यह बैठक एक जुलाई को होगी. सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में दोनों पार्टियों के बीच ‘तकरार’ के अलावा साझा न्यूनतम कार्यक्रम को अंतिम रूप दिए जाने पर बातचीत हो सकती है. गौरतलब है कि समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक कर्नाटक में दो जुलाई से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र से एक दिन पहले बुलाई गई है.

जेडीएस सुप्रीमो और एक समय पर सिद्धारमैया के गुरु एचडी देवगोड़ा ने गठबंधन में चल रही उठापठक पर गुरुवार को बयान देते हुए कहा था कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच कोई समस्या नहीं है, गठबंधन सरकार लंबी चलेगी.

पिछले महीने एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व में गठबंधन सरकार बनने के बाद दोनों दलों ने पांच सदस्यीय समन्वय एवं निगरानी समिति का गठन किया था. पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया इस समिति के चेयरमैन और दानिश अली संयोजक हैं. समिति में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर और कांग्रेस के कर्नाटक प्रभारी केसी वेणुगोपाल भी शामिल हैं.

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com