दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बदमाशों के साथ मुठभेड़ में चार बदमाश ढेर

दिल्ली के छत्तरपुर इलाके में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बदमाशों के साथ मुठभेड़ में चार बदमाशों को ढेर कर दिया है. हालांकि, इस मुठभेड़ में 6 पुलिसवाले भी घायल हो गये हैं. बताया जा रहा है कि पुलिस की यह मुठभेड़ राजेश भारती गैंग से हुई है. बता दें कि राजेश भारती गैंग दिल्ली पुलिस की मोस्ट वांटेड की लिस्ट में शामिल है. 

जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि राजेश भारती गैंग के साथ छतरपुर में आने वाला है. सूचना के आधार पर पुलिस ने जब गैंग को रोकने की कोशिश की तो गैंग ने पुलिस पर गोली चला दी. पुलिस ने भी बचाव में फायरिंग शुरू कर दी. दोनों तरफ से चली गोली में चार बदमाशों की मौत हो गई. मुठभेड़ में छह पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं.

कुख्यात बदमाश राजेश भारती के खिलाफ कई गंभीर केस दर्ज थे और वह हरियाणा पुलिस की कस्टडी से भाग चुका था। नजफगढ़ का राजेश भारती गैंग लूट, उगाही और हत्‍या में माहिर है. बताया जाता है कि कुछ समय पहले राजेश भारती हरियाणा पुलिस की कस्‍टडी से भाग गया था. राजेश भारती पर एक लाख का इनाम भी रखा गया था. पुलिस को काफी समय से राजेश की तलाश थी. राजेश पर दिल्ली समेत कई राज्यों में दर्जनों मामले दर्ज हैं.

मिली जानकारी के अनुसार अधिकारियों की विशेष सेल पिछले दो से तीन महीने से  छतरपुर में एक फार्महाउस पर नजर रख रही थी क्योंकि उन्हें संदेह था कि गिरोह के सदस्य वहां आएंगे। जब अपराधियों को रोका गया, तो पुलिस ने उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। हालांकि, गिरोह के सदस्यों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस टीम ने जवाबी कार्रवाई की.

डीसीपी स्पेशल सेल संजीव यादव ने कहा, "मुठभेड़ में कुल छह पुलिसकर्मियों को चोटें लगीं, उन्होंने कहा कि चार अपराधियों की मौत हो गई जबकि पांचवां घायल हो गया.'' एक स्थानीय निवासी मोहम्मद सद्दीक ने कहा, "हमने पंद्रह मिनट तक पटाखों की आवाज सुनी और सोचा कि कुछ उत्सव चल रहा होगा. बाद में, हमें मुठभेड़ के बारे में बताया गया." सादिक अपने रिश्तेदारों से मिलने आया था लेकिन दक्षिण दिल्ली में चंदन होला के पास के क्षेत्र को बंद कर दिया गया था जिसके चलते वो जा नहीं सका. डीसीपी ने कहा, "आपराधी राजेश भारती और उनके सहयोगी लंबे समय से हरियाणा जेल से फरार थे. वे कई गंभीर मामलों में वॉन्टेड थे और उन पर 1 लाख रुपये का इनाम था. 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com