दुबई की विमान कंपनी एमिरेट्स ने की घोषणा, फ्लाइट्स में अब नहीं मिलेगा ‘हिंदू भोजन’

हाल ही में दुबई की विमान कंपनी एयरलाइन ने घोषणा की है कि उनकी फ्लाइट्स में अब 'हिंदू भोजन' नहीं मिलेगा। एमिरेट्स के आधिकारिक बयान के मुताबिक, 'हम कस्टमर्स को जो वस्तुएं और सेवाएं मुहैया कराते हैं, उनका लगातार रिव्यू करते हैं। इसमें लोगों से फीडबैक भी लिया जाता है। इसी के मद्देनजर हमने विमान के मेन्यू में से हिंदू भोजन के विकल्प को खत्म करने का फैसला किया है।' हालांकि, एयरलाइन ने कहा है कि हिंदू यात्री अभी भी क्षेत्रीय शाकाहारी और मांसाहारी खाना चुन पाएंगे। शाकाहारी यात्रियों के लिए एमिरेट्स ने कई विकल्प रखे हैं जैसे- शाकाहारी जैन खाना, भारतीय शाकाहारी खाना। नॉन बीफ नॉन वेजेटेरियन का ऑप्शन भी रखा गया है।

एमिरेट्स ने यह भी कहा है कि हिंदू कस्टमर अडवांस में तमाम क्षेत्रीय शाकाहारी आउटलेट्स से अपना खाना बुक कर सकते हैं। ये आउटलेट्स विमान के अंदर भी खाने की सुविधा मुहैया करवाते हैं। इसमें कई विकल्प हैं, जैसे हिंदू मील, जैन मील, भारतीय शाकाहारी खाना, कोशर मील, बगैर बीफ वाला मांसाहारी खाना। 

बता दें कि अधिकांश बड़ी एयरलाइंस गैर-शाकाहारी यात्रियों के लिए यह विकल्प देती हैं जो बीफ (गोमांस) या पोर्क (सुअर का मांस) नहीं खाते हैं। एयर इंडिया और सिंगापुर एयरलाइंस भी अपने मेन्यू में धार्मिक आधार पर यात्रियों को भोजन उपलब्ध कराती हैं। 

एयरलाइंस का कहना है कि हम विमान के अंदर यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं की लगातार समीक्षा करते रहते हैं और इसी आधार पर विमान के अंदर हिंदू खाने के विकल्प को बंद करने का फैसला किया गया है। 

एयरलाइंस में बहुत तरह का खाना परोसा जाता है, जिसमें कांटिनेंटल, तुर्की, फ्रेंच, इतालवी, चाइनीज, कोरियन, जापानीज और इंडियन स्टाइल का खाना परोसा जाता है. साथ ही कुछ मेडिकल डाइट्स भी परोसे जाते हैं. मसलन-लो फाइबर, हाई फाइबर, लो फैट, डायबिटीक, पीनट फ्री, नॉन लेक्टोज, कम नमक, लो कैलोरी, लो प्रोटीन और ग्लूटेन फ्री मील्स शामिल रहते हैं. अब तक अमीरात एयरलाइंस में खाने का मेनू 26 तरह का था लेकिन अब इसमें कुछ कटौती की गई है.
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com