चैकिंग के दौरान सिपाही ने तानी SSP पर एके-47 ?

नोएडा क्राइम ब्रांच पर स्थानीय कारोबारियों से उगाही करने के आरोपों के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस अर्लट हो गई है। और भ्रष्ट पुलिसकर्मियों की पड़ताल शुरू कर दी है. इस कड़ी में नोएडा के एसएसपी अजयपाल शर्मा शुक्रवार देर रात ऑटो में सवार होकर गश्त पर निकल पड़े. उनका यह वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है.

बता दें कि रातभर सादे कपड़ों में एसएसपी न सिर्फ यह देखते रहे कि कहीं कोई पुलिसकर्मी अवैध वसूली तो नहीं कर रहा, बल्कि इस दौरान उन्होंने पुलिसकर्मियों की मुस्तैदी की भी परीक्षा ली. इसके लिए उन्होंने वायरलेस पर एक संदिग्ध गाड़ी के गुजरने और ऑटो चोरी की सूचना प्रसारित करवाई, जबकि वह खुद उसी ऑटो में सवार थे.

पूरी रात सादे कपड़ों में एसएसपी अजयपाल शर्मा यह देखते रहे कि कोई पुलिसकर्मी वसूली तो नहीं कर रहा। वह कभी फॉर्चूनर तो कभी ऑटो में घूमते रहे। इस बीच उन्होंने उन्होंने वायरलेस पर एक संदिग्ध फॉर्चूनर गाड़ी गुजरने की सूचना फैलाई। उस फॉर्चूनर में एसएसपी खुद सवार थे। 

दरअसल 18 मई को मीडिया में क्राइम ब्रांच की रेट लिस्ट वायरल हो गई की कैसे नोएडा क्राइम ब्रांच के अधिकारी सीमेंट, सरिया और बाकी व्यापारियों से महीने के रिश्वत के रेट फिक्स थे. जिसके बाद एसएसपी ने पूरी क्राइम ब्रांच को भंग कर दिया और ज़मीनी हकीकत जानने के लिए सुबह 4 बजे ऑटो में सवार होकर निकल गए. काफी जगह घूमने के बाद भी जब कहीं पर अवैध वसूली होती नहीं देखी तो पुलिस की मुस्तैदी चेक करने के लिए अपनी प्राइवेट गाड़ी का नंबर वायरलेस पर फ़्लैश कर दिया.

इसी दौरान एक बैरिकेड से गुजरने के दौरान पुलिसकर्मियों ने गाड़ी रोकने की इशारा किया, लेकिन जब उनकी गाड़ी नहीं रुकी तो एक कांस्टेबल दौड़कर आया और एसएसपी अजयपाल शर्मा पर ही अपनी एके-47 तान दी और गाड़ी से उतरने को कहा. इसके बाद एसएसपी अजय पाल शर्मा ऑटो से नीचे उतरे और अपने जवान की मुस्तैदी के लिए प्रशंसा करते हुए पीसीआर- 22 को चेकिंग में सजग मिलने पर 500 रुपये का नगद पुरस्कार दिया.

दरअसल, शुक्रवार को इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब अवैध पैसों के बंटवारे को लेकर दो सिपाहियों में जमकर लात-घूंसे चले. जिसके बाद एसओजी के कांस्टेबल ने डीजीपी को अवैध उगाही की पूरी लिस्ट भेज दी. डीजीपी के पास लिस्ट पहुंचने के बाद जिला पुलिस में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में एसएसपी गौतम बुद्ध नगर अजय पाल शर्मा ने जिले की एसओजी टीम को लाइन हाजिर कर दिया. साथ ही आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच के आदेश भी दे दिए गए.
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com