मुजफ्फरनगर में ज़ारी है UP सिंघम पुलिस का सफाई अभियान…पुलिस ने एक और 12 हजार का इनामी बदमाश….

मुजफ्फरनगर पुलिस ने बदमाशों के छक्के छुड़ाएं हुए है। दो इनामी बदमाशों को ढे़र करने के बाद पुलिस के रडार पर लगता है जैसे तमाम अपराधी आ गए है। पहले शुक्रवार को एक बदमाश को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया गया तो उसके कुछ देर बाद पुलिस की आंखों में मिर्च झौंककर भागने वाले शातिर बदमाश नदीम को ककरौली के जंगल में मिट्टी में मिला दिया गया। अभी इन दोनों मामलों को लेकर पुलिस की चर्चा लोगों की जुबां चल ही रही थी कि शनिवार रात फिर से मुजफ्फरनगर में एनकाउंटर की खबर ने अचानक रौंगटे खड़े कर दिए।

मुजफ्फरनगरः पुलिस बदमाशों की नहीं, बल्कि इस बार उनकी बदमाशी की रीढ़ की हड्डी तोड़ने में जुटी हुई है। दूसरे दिन भी मुजफ्फरनगर पुलिस का सफाई अभियान जारी रहा। इस बार खतौली पुलिस के खाते में 12 हजारी मोबिन रहा, जो कि सहारनपुर के तितरो के रहने वाले 50 हजारी बदमाश हैदर का भाई है। पुलिस की गोली से घायल हुए मोबिन को अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है, जबकि मुठभेड़ में उसका एक साथी भाग निकला, जिसकी तलाश में देर रात तक जंगलों में पुलिस की कॉम्बिंग जारी रही।


पुलिस के मुताबिक, देर शाम पुलिस को सूचना मिली थी कि मोबिन अपने साथी के साथ खतौली मिल के पास जंगल में छिपा हुआ है। पुलिस ने घेराबंदी कर बदमाशों को सरेंडर करने को कहा तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की तो गोली मोबिन को जा लगी। गोली लगते ही मोबिन जमीन पर गिर पड़ा, जबकि उसका साथी मौका मिलते ही फरार हो गया। पुलिस ने मोबिन को हिरासत में लेकर अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका उपचार किया जा रहा है।


एसएसपी अनंतदेव तिवारी ने समाचार टुडे को बताया कि मोबिन वर्ष 2013 से हत्या के मामले में वांछित चल रहा था। पुलिस को इसकी काफी दिनों से तलाश थी। एसएसपी अनंतदेव तिवारी ने ये भी कहा कि ज़िले में किसी भी तरह का अपराध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अपराध को जड़ से खत्म करने के लिए वो पूरी तरह से कटीबद्व है।

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com