सुरक्षा बलों और हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़, 5 आंतकी ढ़ेर

श्रीनगर से इरफान मलिक की रिपोर्ट

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षा बलों और हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में पांच आतंकियों को मार गिराया। मारे गए आतंकियों में कश्मीर यूनिवर्सिटी का प्रफेसर मोहम्मद रफी बट भी शामिल था। उसने रविवार सुबह ही अपने पिता से आखिरी बार बात की थी और कहा था कि अगर उसने उन्हें दुख पहुंचाया है तो वह उनसे माफी मांगता है। शुक्रवार से आतंकी गतिविधियों में बट की संलिप्तता शुरू हुई और रविवार को शोपियां के बाडीगाम गांव में हुए एनकाउंटर में उसकी मौत हो गई। बट सेंट्रल कश्मीर के गांदरबल जिले के चुंडुना गांव का रहने वाला था। वह कश्मीर यूनिवर्सिटी के समाजशास्त्र विभाग में कॉन्ट्रैक्ट पर असिस्टेंट प्रफेसर था। बताया जा रहा है कि बट शुक्रवार शाम 3:30 बजे से लापता था। उसने उसी दिन अपनी मां से आखिरी बार बात की थी, पर अपने भविष्य की योजना के बारे में कुछ भी नहीं बताया था। हालांकि रफी ने रविवार सुबह ही अपने पिता फयाज अहमद भट्ट से आखिरी बार फोन पर बात की। फयाज ने पुलिस को बताया कि वह आज सुबह जगे ही थे कि उनका फोन बजा। यह फोन उनके सामाजशास्त्री बेटे रफी का था। रफी ने अपने पिता से कहा कि अगर उसने उन्हें दुख पहुंचाया है तो वो इसके लिए उनसे माफी मांगता है। इसके बाद उसके मुठभेड़ में मारे जाने की खबर मिली। पुलिस ने बताया कि रफी पिछले सप्ताह के शुक्रवार को घर छोड़कर आतंकी समूह हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक पुलिस दल भेजकर फयाज और उनके परिवार को रफी को आत्मसमर्पण के लिए मनाने को कहा था। फयाज उनकी पत्नी और बेटी बोटा कदाल स्थित मुठभेड़ स्थल पर पहुंचे ही थे कि उन्हें रफी की मौत की खबर मिली। दरअसल 2016 में आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कई युवाओं ने आतंक का रास्ता चुना, इनमें से कई महज 15 दिन के अंदर ही एनकाउंटर में मारे गए। बट के परिवार ने यूनिवर्सिटी अथॉरिटी को उसके गायब होने के बारे में शनिवार सुबह जानकारी दी थी। इसके बाद कुछ छात्रों ने उसका पता लगाने के लिए यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन भी किया था। यूनिवर्सिटी के वीसी ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मुलाकात की और भरोसा दिलाया कि बट को ढूंढने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी जाएगी। यूनिवर्सिटी के वीसी ने इस संबंध में डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को भी लिखा था और बट को ढूंढने की अपील की थी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com