फेसबुक पर आने वाला है नया फीचर, सोचते ही होगा टाईप…

नई दिल्ली:  पिछले कुछ सालो से दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी सोशल मीडिया पर एक्टिव दिखी है खासतौर से फेसबुक पर तो कुछ ज्यादा ही क्योंकि फेसबुक सोशल मीडिया के उन प्लेटफार्म्स में से एक है जहां पर आप अपनी फोटो, विडियो या फिर अपनी भावनाए पब्लिक में शेयर कर सकते है लेकिन उसे लिखने के लिए आपको अपनी उंगलियां कीबोर्ड पर थिरथिरानी पड़ती है लेकिन अब आपकी ये तकलीफ खत्म होने जा रही है क्योंकि अब आपको फेसबुक पर पोस्ट करने के लिए केवल सोचना पडेगा।इस संबंध में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कंपनी की F8 कॉन्फ्रेंस में बताया है कि उनके इंजिनियर्स इंसानों और कंप्यूटर्स के बीच सीधे संवाद के लिए नया इंटरफेस बनाने पर काम कर रही है। ‘हम डायरेक्ट ब्रेन इंटरफेस पर काम कर रहे हैं जिससे आप सिर्फ अपने दिमाग की मदद से कम्यूनिकेट कर पाएंगे।’ जकरबर्ग ने फेसबुक की सालाना डिवेलपर्स कॉन्फ्रेंस में बताया कि कंपनी उन तरीकों पर स्टडी कर रही है जिनसे लोग अपने विचारों की मदद से ही कंप्यूटर्स को कंट्रोल कर सकेंगे।

टाइपिंग के लिए केवल सोचना होगा-

बता दें कि कपनी ने इसे डायरेक्ट ब्रेन इंटरफेस का नाम दिया है। कंपनी का कहना है यह टेक्नॉलजी उन शब्दों को डीकोड करेगी, जिन्हें आप अपने दिमाग के स्पीच सेंटर पर भेजते हैं। जिस तरह से आप बहुत से फोटो खींचते हैं मगर शेयर कुछ को ही करते हैं। इसी तरह से आपके दिमाग मे कई ख्याल आते हैं मगर शेयर आप कुछ को ही करते हैं। ठीक इसी तरह से उन्हीं कमांड्स को लिया जाएगा जो आप इरादतन देंगे।

फेसबुक द्वारा किये गए इस ऐलान को लेकर अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि फेसबुक टलेपथिक टेक्नॉलजी इस्तेमाल करने की सोच रही है। जिसके लिए कंपनी ‘साइलेंट स्पीच’ सॉफ्टवेयर डेवलप कर रही है इसके द्वारा लोग एक मिनट करीब 100 शब्द टाइप कर पाएंगे। बता दे कि यह प्रॉजेक्ट 6 महीने पहले शुरू हुआ है जिसमें 60 से ज्यादा वैज्ञानिकों, इंजिनियर्स और सिस्टम इंटिग्रेटर्स की टीम इस पर काम कर रही है । ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस टेक्नॉलजी में इलेक्ट्रोड्स लगाने पड़ते हैं।

वहीं फेसबुक का कहना है कि वह इस काम के लिए ऑप्टिकल इमेजिंग इस्तेमाल करना चाहता है जिससे सर्जरी करने की जरूरत न पड़े। इस तरह की टेक्नॉलजी की मदद से लोग सोचने भर से टेक्स्ट मेसेज और ईमेल्स भेज पाएंगे। उन्हें ऐसा करने के लिए स्मार्टफोन की टचस्क्रीन या कंप्यूटर के कीबोर्ड को छूने की जरूरत नहीं होगी। वे अपने काम को जारी रख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com