कर्ज न चुकाने पर किसानों की जमीन होगी नीलाम, किसानों ने दी आत्महत्या की चेतावनी

रिपोर्ट – प्रदीप साहू (चरखी दादरी)

हरियाणा: चरखी दादरी जिलेे के गांव मकड़ानी में बैंक का कर्ज न चुकाने पर किसानों की करोड़ों रुपए की जमीन कौडिय़ों के भाव नीलाम करने का फरमान सुनाया गया है। आहत किसानों ने जहां प्रशासन के दरबार पहुंचकर राहत देने की मांग की है वहीं कर्ज मुक्त नहीं होने पर आत्महत्या करने की चेतावनी भी दी है। सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक की मोड़ी शाखा द्वारा किसानों की जमीन 11 सितम्बर को नीलाम करने का नोटिस जारी किया गया है। वहीं विपक्ष ने प्रदेश सरकार को घेरते हुए किसानों का कर्ज माफ करने की मांग करते हुए कहा कि कर्ज माफ नहीं होने पर आंदोजन का रूप अखत्यार किया जाएगा। 

दरअसल, दादरी जिले के गांव मकड़ानी के 9 किसानों की करीब 37 एकड़ जमीन पर कर्ज लेकर खेतों में सिंचाई के लिए ट्यूबवैल लगाने के लिए गांव मोड़ी स्थित सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक की शाखा द्वारा करीब 10 वर्ष पूर्व किसानों ने कर्ज लिया था। बैंक द्वारा ऋण की अदायगी समय पर न करने पर सार्वजनिक तौर पर उनकी जमीन नीलाम करने का निर्णय लिया है। ये नीलामी 11 सितंबर को किसानों के गांव मकड़ानी की चौपाल या मुख्य चौक पर आयोजित की जाएगी। जमीन निलामी का नोटिस मिलते ही जहां किसानों को जमीन जाने का भय सता रहा है और उनके समक्ष रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है वहीं किसान संगठनों व विपक्ष की सरकार के खिलाफ भौंहे तन गई हैं तथा उन्होंने सरकार से सीधे टकराव की घोषणा करने का मन बना लिया है।

सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक मोड़ी की शाखा द्वारा गत दिनों गांव मकड़ानी के किसान रामनिवास, पवन, ईश्वर सिंह, राजेश कुमार, रामधन, राजेंद्र, सोमबीर, रामकिशन व ओमप्रकाश को भेजे नोटिस में साफ कहा गया है कि आपने बैंक का कर्ज समय पर न चुकाने के कारण आपकी जमीन की नीलामी की जा रही है। नीलामी सूचना में किसानों पर बैंक का 32 लाख रुपए से अधिक का बकाया कर्ज दर्शाया है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com