FIFA WORLD CUP 2018: 12 साल बाद क्वार्टरफाइनल में पहुंचा इंग्लैंड, कोलंबिया को 4-3 से हराकर अंतिम 8 में किया प्रवेश

इंग्लैंड ने मंगलवार को फीफा विश्व कप के प्रीक्वार्टर फाइनल मुकाबले में कोलंबिया को हराकर क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। मॉस्को के स्पार्टक स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड ने कोलंबिया को पेनल्टी शूट आउट में 4-3 से हराया। दोनों टीमों के बीच पहले हाफ का खेल गोलरहित रहा।

इसके बाद दूसरे हाफ के आखिरी क्षणों में यैरी मीना (90+3') में शानदार गोल दागकर स्कोर को बराबरी पर ला दिया। इसके साथ ही फुलटाइम तक दोनों टीमों का स्कोर 1-1 की बराबरी पर था। इसके बाद नतीजा के लिए एक्सट्रा टाइम का खेल कराया गया। 30 मिनट तक खेले गए इस मुकाबले में भी कोई नतीजा सामने नहीं आया तो फिर यह मुकाबला पेनल्टी शूटआउट में चला गया, जहां इंग्लैंड ने कोलंबिया को 4-3 से हराकर फीफा विश्व कप 2018 के क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई। 12 साल बाद यानी 2006 के बाद इंग्लैंड क्वार्टरफाइनल में जगह बनाने में सफल रही। एक बार की चैंपियन रही इंग्लैंड का अगला मुकाबला स्वीडन से होगा।

इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन ने 58वें मिनट में पेनल्टी से गोल किया। उनके इस विश्व कप में 6 गोल हो गए हैं। इनमें से 3 गोल पेनल्टी से आए हैं। वहीं फुल टाइम के बाद 90+3 मिनट में कोलंबिया के येरी मिना ने गोलकर टीम को बराबरी दिलाई। एक्सट्रा टाइम में दोनों टीमें कोई भी गोल नहीं कर सकीं। इस पर कप्तान हैरी केन ने शानदार गोल कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। अंतिम पलों तक मैच में सबकुछ इंग्लैंड के पक्ष में चल रहा था, लेकिन इंजरी टाइम के तीसरे मिनट में येरी मिना ने शानदार हेडर पर गोलकर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया। 
वहीं, दूसरे हाफ के हाफ टाइम तक में कोलंबिया थोड़ी सुस्त नजर आ रही थी। क्योंकि उसपर बराबरी करने दबाव था और ऊपर से इंग्लैंड लगातार आक्रमण कर रही था। हालांकि, दूसरे हाफ के हाफ टाइम के बाद कोलंबिया ने भी आक्रमण करना शुरू किया और दूसरे हाफ के आखिरी क्षणों में यैरी मीना (90+3') ने कॉर्नर किक पर अपने हेडर से गेंद को गोलपोस्ट में दागकर शानदार गोल कर स्कोर को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद मुकाबला एक्सट्रा टाइम में गया और वहां भी 1-1 की बराबरी परल खेल खत्म हुआ। फिर पेनल्टी शूटआउट के जरिए एक बार की चैंपियन इंग्लैंड ने कोलंबिया को 4-3 से हरा दिया। 

1939 के बाद लगातार 6 मैच में गोल करने वाले हैरी केन पहले इंग्लिश खिलाड़ी बने, इससे पहले टॉमी लॉटन ने किया था। केन एक विश्व कप में सबसे ज्यादा गोल करने वाले अपने देश के संयुक्त रूप से नंबर एक खिलाड़ी बन गए। उन्होंने गैरी लिनेकर की बराबरी की। लिनेकर ने 1990 विश्व कप में 6 गोल किए थे। साथ ही विश्व कप में इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा 10 गोल का रिकॉर्ड भी लिनेकर के नाम है। उनके बाद अब केन दूसरे नंबर पर हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com