चुनावी रंजिश के चलते दो पक्षों में हुई फायरिंग, 3 लोग घायल….

रिपोर्ट – दुर्गेश कुशवाह ( जालौन)

उत्तर प्रदेश – जालौन में चुनावी रंजिश में दो पक्षों में फायरिंग हो गई। इस घटना में दोनों पक्ष के 3 लोग घायल हो गये, जिन्हे इलाज के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जालौन में भर्ती कराया जिसमें दो की नाजुक हालत होने के कारण झांसी मेडिकल कालेज के लिये रेफर कर दिया जबकि 1 को उसके परिजन इलाज के लिये कानपुर ले गये।


दरअसल, घटना जालौन कोतवाली के सुढार सालाबाद ग्राम की है। बताया जा रहा है कि इस गाँव में 2010 के प्रधानी चुनाव में शैलेन्द्र भदौरिया नाम के युवक की हत्या हो गई थी। इस मामले में 14 सितंबर को अदालत में फ़ैसला सुनाये जाने की तारीख लगी थी। जिसमें शैलेन्द्र के पक्ष की श्यामसुंदर उपाध्याय गवाही और मामले की पैरवी कर रहे थे। इस मामले में कई बार हत्या के आरोपी के धर्मेंद्र तोमर ने गवाहों को तोड़ने का प्रयास किया ।  लेकिन जब श्यामसुंदर इस मामले में गवाही देने से मुकरे नहीं तो शनिवार की देर शाम को धर्मेंद्र तोमर ने अपने साथियों के साथ मिलकर श्याम सुंदर के घर पर धावा बोल दिया गया ।  जिसमें 60 वर्षीय श्याम सुंदर और उनके 32 वर्षीय पुत्र शंभू को गोली लग गई। धर्मेंद्र पक्ष द्वारा गोली चलाये जाने पर श्याम सुंदर की तरफ से गोली चली ।  जिसमें 35 वर्षीय धर्मेन्द्र उर्फ दीपू तोमर को भी गोली लग गई। जिसमें श्याम सुंदर और उसके पुत्र शंभू को जालौन के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जबकि धर्मेंद्र उर्फ दीपू को जिला अस्पताल पहुँचाया गया है। जहां बाद में चिकित्सकों ने श्याम सुंदर और उसके पुत्र को झांसी मेडिकल कालेज रेफर किया गया । जबकि जिला अस्पताल से धर्मेंद्र को कानपुर रेफर किया गया। 


वहीं इस मामले में श्याम सुंदर के परिजन जालौन कोतवाल महाराज सिंह तोमर पर सवाल उठा रहे हैं। वहीं इस घटना के बाद गाँव में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। इस मामले में घायल श्याम सुंदर के भाई का कहना है कि वह दुकान पर थे तभी चारों तरफ से घेरकर गोली चलाई गई है और पुलिस इस मामले को दबाने में जुटी हुयी है। वहीं इस मामले में अभी तक कोई भी पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने के लिये सामने नहीं आया है। वही चिकित्सक मुकेश राजपूत का कहना है उनके पास दो लोग घायलावस्था में आए थे जिनको गोली लगी हुयी थी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com