दिल्लीवासियो के लिए वित्त मंत्री सिसोदिया ने 53 हजार करोड़ का बजट पेश किया

केजरीवाल सरकार ने  विधानसभा मे आज अपना बजट पेश कर दिया. वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने दोपहर 12 बजे दिल्ली विधानसभा में बजट पेश करना शुरू किया. मनीष सिसोदिया का यह चौथा बजट है.
देखिए  बजट की खास बातें
प्रस्तावित बजट 53 हजार करोड़ रुपए का है. इसका 13 फीसदी स्थानीय निकायों को दिया जाएगा.
पिछले 3 साल में बजट 30,900 करोड़ से बढ़कर 53,000 करोड़ तक पहुंचा.
निगम की टूटी सड़कों को ठीक करने के लिए 1,000 करोड़ का बजट अलग से दिया जाएगा.
सिसोदिया बोले- पहला बजट शिक्षा स्वास्थ्य बजट था. इस वर्ष ग्रीन बजट के प्रस्ताव अहम होंगे.
रोजगार की स्थिति पर जताई चिंता
सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा कि आर्थिक असमानता की दर अमेरिका और रूस से आगे पहुंच गई है. बजट बनाते वक्त इन सब बातों पर ध्यान देना जरूरी है. ब्रिक्स और सार्क देशों से भी कम पैसा हम शिक्षा और हेल्थ बजट पर खर्च कर रहे हैं.
मनीष सिसोदिया ने बजट भाषण की शुरुआत रोजगार की स्थिति पर चिंता जताते हुए किया. उन्होंने कहा कि निचले स्तर पर विकास नहीं हो रहा. आर्थिक असमानता बढ़ रही है. इस पर ध्यान देना जरूरी है.
उन्होंने कहा कि विश्व के प्रदूषित 20 में से 9 शहर भारत में है.
ग्रीन बजट की तैयारी!केजरीवाल सरकार इस बजट में पर्यावरण को लेकर कुछ बड़े ऐलान कर सकती है. इस बजट को एक तरह का ग्रीन बजट भी कहा जा रहा है. इस बजट में शिक्षा और हेल्थ पर ज्यादा फोकस किया जा सकता है.
दिल्ली की सत्ता में 3 साल पूरे कर चुकी आम आदमी पार्टी सरकार अपने बजट में पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए मज़बूत कदम उठाने जा रही है. दिल्ली की हवा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए पर्यावरण विभाग, परिवहन विभाग, पीडब्ल्यूडी विभाग, और ऊर्जा विभाग को ग्रीन बजट का हिस्सा बनाया जाएगा.
'आप' प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने बताया कि इस बार बजट के बारे में सुना है कि ग्रीन बजट लाया जाएगा. पर्यावरण पर इस बार बजट का मुख्य फोकस रहेगा.
पर्यावरण के अलावा मनीष सिसोदिया का ध्यान अपनी सरकार की बहुचर्चित योजनाओं पर रहेगा. जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य से जुड़ी कई योजनाएं शामिल हैं. अपने पिछले बजटों में केजरीवाल सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर पर कोई खास ध्यान नहीं दिया है, ऐसे में देखना होगा कि इस बार सरकार का क्या रुख रहता है. जीएसटी लागू होने के बाद दिल्ली सरकार का ये पहला बजट है. ऐसे में देखना होगा कि क्या कुछ ऐलान मनीष सिसोदिया इस बजट में करेंगे.
कपिल मिश्रा ने की उत्तर पूर्वी दिल्ली के लिए विशेष इकोनॉमिक पैकेज की मांग
बजट से ठीक पहले दिल्ली सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा ने सिसोदिया को चिट्ठी लिख उत्तर पूर्वी दिल्ली के लिए विशेष इकोनॉमिक पैकेज की मांग की है. कपिल मिश्रा ने अपनी चिट्ठी में लिखा है "जमनापार के उत्तर पूर्वी दिल्ली क्षेत्र को विशेष इकनोमिक पैकेज दिया जाए. उत्तर पूर्वी दिल्ली का क्षेत्र जिसमे करावल नगर, मुस्तफाबाद, गोकलपुरी, घोंडा, सीमापुरी, रोहतास नगर, सीलमपुर और बाबरपुर जैसी विधानसभा क्षेत्र आती हैं. ये इलाके दिल्ली की सबसे घनी आबादी वाले और सबसे पिछड़े इलाकों में आते हैं."
 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com