बक्सर जेल से 5 कैदी फरार

पटना। बक्सर के सेंट्रल जेल में बंद पांच कैदियों को मंजूर न था कि वे जेल की काल कोठरी में बंद रहकर नए साल का जश्न मनाए। फांसी और उम्रकैद की सजा पाए इन कैदियों ने जेल से भागने का प्लान बनाया और उसपर अमल कर शनिवार सुबह करीब तीन बजे फरार हो गए। 

जेल से भागने के लिए कैदियों ने अस्पताल वार्डन के शौचालय की खिड़की का इस्तेमाल किया। पहले सभी ने मिलकर खिड़की तो तोड़ दिया फिर उसी रास्ते जेल से बाहर निकल गए। कैदियों के भागने की खबर मिलते ही जेल में हड़कंप मच गया।

संगीन मामलों में मिली थी सजा

buxar-jail1_1483171513कैदी नं. 1 प्रदीप सिंह मोतिहारी जिले का रहने वाला है। हत्या के मामले में उसे फांसी की सजा मिली थी।

कैदी नं. 2- छपरा जिले का देवधारी राय रेप के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा था।

कैदी नं. 3- आरा जिले के सोनू पांडेय को हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा मिली थी।

कैदी नं. 4- उपेंद्र भी आरा जिले का है और उसे भी हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा मिली थी।

कैदी नं. 5- सोनू बक्सर जिले का रहनेवाला है। अपहरण के केस में उसे 10 साल जेल की सजा मिली थी।

जेल से भागे कैदियों को पकड़ने के लिए तड़के सुबह से पुलिस छापेमारी कर रही है। पूरे जिले की पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। कैदियों के संभावित ठिकानों पर पुलिस रेड मार रही है, लेकिन अभी तक उनका सुराग नहीं मिला है। कैदियों के तलाश के लिए बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे इलाके में तलाशी की जा रही है।

कैदियों के फरार होने के संबंध में कारा महानिरीक्षण ने जांच का आदेश दिया है। उन्होंने जांच दल को 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। इस केस में जेल के मुख्य उच्च कक्षपाल कामेश्वर पासवान, कक्षपाल उपेंद्र दास और राजकुमार राम को निलंबित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com