मित्र पुलिस पर फिर उठे सवाल, पढ़े पूरा मामला

उत्तराखंड में रूड़की की मित्र पुलिस का फिर से काला चेहरा सामने आया है यहा एक मुस्लिम युवक ने रूड़की कोतवाली में कुछ दिन पहले तक तैनात रही कोतवाल साधना त्यागी पर बहुत ही गंभीर आरोप लगाए है। फिरोज खान ने शुक्रवार को अपने वकील के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमे फिरोज खान ने बताया की रूड़की कोतवाली की पूर्व कोतवाल साधना त्यागी और एस एस आई हरपाल सिंह ने उन्हें पाकिस्तानी  ख़ुफ़िया एजेंसी आई एस आई का एजेंट साबित करने के लिए कई दिन तक उन्हें हिरासत में रखा और जहा बिना किसी कारण के उनके साथ मारपीट की जाती थी। लेकिन जब आई एस आई से उनका कोई लिंक नहीं निकाला तो उन्हें एक युवती से जबरन रेप के केस में फंसाने की कोशिश की गई।

लेकिन युवती ने जब ऐसा करने से मना कर दिया तो युवती के साथ भी कई दिन तक बर्बरता पूर्वक मारपीट की। लेकिन पिटाई होने पर भी युवती ने हिम्मत दिखाई और झूठा रेपकेस करने से मना कर दिया ।जिसके बाद युवती को छोड़ दिया गया युवती ने अपने साथ मारपीट की घटना की शिकायत पुलिस अधिकारियों से की जिसके बाद कोतवाल साधना त्यागी भड़क गई और युवती की तलाश में जुट गई

पुलिस से डरकर युवती शहर से कही बाहर चली गई. फिरोज खान ने बताया उसने पूरी घटना की शिकायत पुलिस के उच्च अधिकारियो से की जिसमे जांच भी बैठाई गई है लेकिन तीन महीने बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई है जिससे वह बहुत परेसान है उनका कहना है की अगर 15 दिन के अंदर उनको इन्साफ नहीं मिलता है तो वह कोतवाली के बाहर भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। कोतवाल साधना त्यागी पर बेक़सूर युवको को झूठे मुक़दमे में फंसाकर जेल भेजने का यह पहला मामला नहीं है बल्कि इससे पहले भी बेक़सूर लोगो को झूठे मुक़दमे में जेल भेजने के कई मामले सामने आ चुके है ऐसा नहीं है की साधना त्यागी के ऐसेकारनामो की जानकारी पुलिस के उच्च अधिकारियों को नहीं है कई मामलो की शिकायत उच्च अधिकारियों तक पहुंची है लेकिन ना जाने किस कारण उच्च अधिकारी कोई भी कार्यवाही करने से बचते रहे है 

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com