बना रिकॉर्ड, 1 लाख करोड़ के पार पहुंचा GST कलेक्शन

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार टूडे

 

इकोनॉमी और सरकार के लिए राहत देने वाली बड़ी खबर आई है। पिछले साल जुलाई  में लागू किए जाने के बाद जीएसटी कलेक्शन में लगातार उतार-चढ़ाव नजर आ रहा था, लेकिन अप्रैल में कलेक्शन ने एक नया रिकॉर्ड  बना लिया है. अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया है। सरकार बड़ी बेसब्री से अप्रैल के कलेक्शन का इंतजार कर रही थी क्योंकी मार्च में आमतौर पर टैक्स कलेक्शन के आंकड़े ज्यादा होते हैं।

गौरतलब है कि अप्रैल में कुल जीएसटी कलेक्शन 1.03 लाख करोड़ रुपये रहा है। मंत्रालय ने बेहतर कलेक्शन के लिए अर्थव्यवस्था के स्तर पर सुधरी हालत और व्यवस्था लागू करने में आई सरलता को वजह माना है.अप्रैल में कुल सीजीएसटी कलेक्शन 18652 करोड़ रुपये और कुल आईजीएसटी कलेक्शन 50548 करोड़ रुपये रहा है। आईजीएसटी कलेक्शन में 21246 करोड़ रुपये का इंपोर्ट शामिल है। इसी तरह अप्रैल में कुल एसजीएसटी कलेक्शन 25704 करोड़ रुपये और जीएसटी सेस कलेक्शन 8600 करोड़ रुपये रहा है।


बता दें कि आमतौर पर मार्च में टैक्स के आंकड़े ज्यादा होते हैं। मार्च के बाद अब अप्रैल में भी जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचने पर सरकार को बड़ी राहत मिली है। ई-वे बिल लागू होने से बढ़त जारी रहने का अनुमान है। औसत मासिक कलेक्शन 1.12 लाख करोड़ का सरकारी लक्ष्य है। अगस्त 2017-मार्च 2018 की अवधि में 7.19 लाख करोड़ का जीएसटी कलेक्शन हुआ है जिसमें 1.19 लाख करोड़ सीजीएसटी और 1.72 लाख करोड़ एसजीएसटी शामिल हैं। वहीं, आईजीएसटी के तौर पर 3.66 लाख करोड़ रुपये की वसूली हुई है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com