लव जिहाद का शिकार हुई पीड़िता को हिंदू महासभा ने धर्मांतरण कर कराया घर वापसी

अलीगढ़ में लव जिहाद की शिकार हुई यौन शोषण पीड़िता का अखिल भारत हिंदू महासभा ने शनिवार को हवन यज्ञ कराकर धर्मांतरण कर घर वापसी कराया। दरअसल थाना सिविल लाइन इलाके के दोधपुर की रहने वाली एक युवती ने आरोप लगाया था कि 2008 में यूसुफ नाम के युवक ने कबीर चौहान यानी हिन्दू बनकर उसे अपने प्रेमजाल में फंसाया और उसके साथ हिन्दू रीति-रिवाज से शादी की। दी के डेढ़ साल बाद उसे एक बच्चा पैदा हुआ…बच्चा पैदा होने के बाद कबीर ने उस पर जबरन निकाह का दवाब बनाया। निकाह से पहले उसने अपने भाई के साथ जबरन हलाला कराया। मना करने पर मारपीट की। इसके बाद जबरन धर्म परिवर्तन कराकर उसके स थ निकाह किया। पीड़िता का कहना था कि निकाह के बाद से ही कबीर लकातार अपने बड़े भाई, छोटे भाई और पिता के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करता था। यही नहीं, कई बार कबर ने उसे उसके भाइयों के साथ कमरे में बंद कराकर उसका दुष्कर्म कराया। इतना ही नहीं यूसुफ के पिता ने भी उसके साथ दुराचार का प्रयास किया। विरोध करने पर कबीर कहता था कि उसने उसकी अश्लील वीडियो क्लिप बना रखी है, जिसे वह वायरल कर देगा। पीड़िता का यह भी कहना है कि कबीर उस पर 200 रुपये के बदले में उसके दोस्तों के साथ भी सम्बन्ध बनाने का दवाब डालता था। थाना सिविल लाइन में तहरीर देने के बाद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसके बाद पीड़िता ने हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव शकुन पाण्डेय से मदद मांगी। इसके बाद शनिवार को अखिल भारत हिंदू महसभा ने अचल ताल स्थित आर्य समाज मंदिर में हवन कराकर धर्मांतरण कर घर वापसी का काम किया। पीड़ित युवती का कहना है कि वह फिर से हिन्दू धर्म में आकर बहुत खुश है। अब वह फिर से अपने पुराने नाम वंदना के नाम से जानी जाएगी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com