बदायूं में फिर शर्मसार हुई इंसानियत, HIV पी़ड़ित गर्भवती महिला को नहीं मिला इलाज

उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था तो हमेशा से सवालों के घेरे में थी…अब वहां की स्वास्थ्य सुविधा पर भी सवाल उठने लगे हैं…बदायूं जनपद में एक गर्भवती महिला को अस्पताल में केवल इसलिए इलाज नहीं मिल पाया, क्योंकि वह एचआई पॉजिटिव महिला थी।मामला बदायूं के इस्लामनगर का है…यहां एचआईपी पॉजिटिव एक महिला को डिलीवरी होने वाली थी…उसे इलाज के लिए जिला महिला अस्पताल बदायूं ले जाया गया। लेकिन जब जिला महिला अस्पताल में डॉक्टरों को पता चला कि उसे एड्स है तो धरती के इस भगवान ऩे महिला का इलाज करना तो दूर उसे हाथ लगाना तक मुनासिब नहीं समझा।

पीड़ित परिवार उनके सामने मिन्नतें करता रहा…गिड़गिड़ाता रहा लेकिन भगवान का दिल नहीं पसीजा। थक-हारकर उसका पति उसे प्रसव पीड़ा के लिए बरेली ले गया। लेकिन इस सारी कवायद में इतना अधिक वक्त गुजर गया कि बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई। महिला की जान भी मुश्किल से ही बचाई जा सकी। जब मामला मीडिया में सामने आया तो हमेशा की तरह उस पर लीपापोती की कोशिश शुरू हो गई। अस्पातल की सीएमएस रेखा सक्सेना का कहना है कि महिला के एचआईवी पॉजिटिव होने के डॉक्टरों को पता नहीं था। पूरे मामले की जांच की जा रही है और रिपोर्ट आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com