फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल एके शर्मा से पूछताछ के दौरान हुए अहम खुलासे

आर्मी विजिलेंस और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पकड़े गए फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल एके शर्मा से पूछताछ में अहम खुलासे हुए हैं। पता चला है कि फर्जी लेफ्टिनेंट के तार सेना के उच्चाधिकारियों से भी जुड़े हुए हैं। कहा जा रहा है कि एके शर्मा फर्जी आर्मी अधिकारी बनकर लगातार सेना अधिकारियों के सम्पर्क में था। सेना अधिकारियों की एक पार्टी में भी नकली अफसर को देखा गया था। पुलिस ने इसे 23 जून तक फिर से रिमांड पर लिया है। पूछताछ के दौरान पुलिस ने शर्मा को साथ लेकर उसके दिल्ली, नारनौल स्थत मकानों के साथसाथ यूपी और राजस्थान में छापेमारी की। गई। इस दौरान खुलासा हुआ कि एके शर्मा वर्दी सहित उनके क्षेत्र में आता था। उसके साथ उसका निजी पीए और ड्राइवर भी रहता था। शर्मा निजी पीए और ड्राइवर के माध्यम से युवाओं को सेना में भर्ती लगवाने के नाम पर सौदेबाजी करता। जो युवा पैसे दे देते उन्हें फर्जी कॉल लेटर जारी कर दिया जाता। ऐसे 19 युवाओं के नाम सामने आये हैं जिनसे आर्मी की इंजीनियरिंग विंग में विभिन्न पदों पर नौकरी लगवाने के नाम पर लाखों रुपये ठगे गए हैं। पुलिस अब एके शर्मा उर्फ अमित शर्मा के बैंक खातों को खंगालना शुरू कर दिया है। पुलिस ने शर्मा के विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी कर विभिन्न विभागों की 8 रबड़ स्टैंप, एक लाख रुपये नगद सहित फर्जी कॉल लेटर बरामद किए हैं। पुलिस सूत्रों की मानें तो गाड़ी में एक डायरी भी मिली है। इसमें सेना से जुड़े कई उच्च पदस्थ अधिकारियों के फोन नंबर और उनके बारे में अहम जानकारियां मिली हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com