अगले 48 घंटे में क्रैश हो सकता है इंटरनेट, पढ़े क्या है वजह

अगले 48 घंटे के अंदर दुनियाभर में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों को झटका लग सकता है। Russia Today की एक रिपोर्ट के मुताबिक इंटरनेट यूजर्स को CONNECTION FAILURE का एरर मिल सकता है. क्योंकि कुछ समय तक के लिए मेन डोमेन और इससे जुड़े नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर डाउन रहेंगे.रिपोर्ट्स के अनुसार, 'द इंटरनेट कॉरपोरेशन ऑफ असाइन्ड एंड नंबर्स' इस अवधि के दौरान मेंटेनेंस से जुड़ा काम करेगी।

दी इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइंड नेम्स एंड नंबर्स यानी ICANN. यह नॉन प्रॉफिट प्राइवेट ऑर्गनाइजेशन डोमेन नेम की रजिस्ट्री और IP अड्रेस प्रोवाइड करती है. यही संस्था अपनी क्रिप्टोग्राफिक कीज में कुछ बदलाव करने जा रही है.

कम्यूनिकेशन रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ने एक बयान में कहा है, ‘अगर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स ने इस बदलाव के लिए तैयारी नहीं की है तो कुछ यूजर्स इससे प्रभावित हो सकते हैं. हालांकि इसके प्रभाव से बचने के लिए आप सिस्टम सिक्योरिटी एक्स्टेंशन एनेबल कर सकते हैं’

आईसीएएनएन ने बताया कि संचार विनियामक प्राधिकरण (सीआरए) ने बताया है कि सुरक्षित, स्थिर और लचीला डीएनएस सुनिश्चित करने के लिए विश्वभर में इंटरनेट शटडाउन आवश्यक है। ऐसे में इंटरनेट यूजर्स पर इसका असर पड़ सकता है क्योंकि उनका नेटवर्क ऑपरेटर्स और आईएसपी इसके लिए तैयार नहीं होंगे। 

इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटे के दौरान वेब पेज एक्सेस करने या कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शंस करने में दिक्कत हो सकती है। इसके अलावा, अगर यूजर पुराना ISP का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें ग्लोबल नेटवर्क एक्सेस करने में परेशानी होगी। हालांकि, सिस्टम सिक्योरटी को अनेबल करके इस प्रभाव से बचा जा सकता है।

गौरतलब है कि ICANN ने इसके लिए पहले भी कुछ टेस्ट किए हैं ताकि रिप्लेसमेंट प्रोसेस में कोई दिक्कत न आए और कम से कम दिक्कत में ये काम हो जाए. डिजिटल इकॉनॉमिक्स के स्पेशलिस्ट आर्सने श्लेस्टियन ने लोगों को भरोसा दिलाया है कि डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मेन सॉफ्टवेयर पहले ही अपडेट कर लिया है इसलिए ज्यादा दिक्कत नहीं होगी.

हालांकि, सिस्टम सिक्योरिटी एक्सटेंशंस को लागू करके असर से बचा जा सकता है। इंटरनेट यूजर्स को वेब पेज खोलने या फिर किसी ट्रांजेक्शन को करने में आने वाले 48 घंटों में दिक्कत आ सकती है। 

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com