महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार को दी चेतावनी, PDP को तोड़ने की कोशिश हुई तो पैदा होंगे और सलाउद्दीन

जम्मू और कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र की मोदी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि राज्य में बीजेपी ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की तो कश्मीर में कई और सलाउद्दीन पैदा होंगे और राज्य के हालत 90 के दशक जैसे हो जाएंगे.

इससे पहले महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को बगावती नेताओं पर ऐक्शन लेना शुरू कर दिया। पीडीपी ने विधान परिषद सदस्य यासिर रेशी को बांदीपुरा जिला अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया। यासिर रेशी उन पीडीपी नेताओं में से एक हैं जिन्होंने सार्वजनिक रूप से महबूबा मुफ्ती की आलोचना की थी। पीडीपी में बगावत के सुर काफी तेज हो चुके हैं, जिसे लेकर जाहिर तौर पर महबूबा परेशान चल रहीं हैं। 
भाजपा के अभी दोनों हाथ में लड्डू हैं. 'जी हां' पहला राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है और केंद्र में भाजपा सत्ता में है . दूसरा भाजपा के सहयोग से बनी पीडीपी लगातार कमजोर होती नजर आ रही है. पार्टी में विधायकों के बागी जैसे सुर मुखर हैं. जानकारों की मानें तो भाजपा की पहली कोशिश इन हालात के बीच में जम्मू-कश्मीर में अपनी स्थिति मजबूत करने की होगी. भाजपा लद्दाख क्षेत्र को लेकर भी लगातार संवेदनशील रहती है. उल्लेखनीय है कि अभी तक घाटी में पीडीपी और नेशनल कांफ्रेस का ही दबदबा रहा है. कांग्रेस कुछ क्षेत्रों में अपना जनाधार रखती है.

बता दें कि महबूबा मुफ्ती का बयान ऐसे समय में आया है जब बीजेपी के सहयोगी, पूर्व अलगाववादी सज्जाद लोन का पीपुल्स कॉन्फ्रेंस पीडीपी में एक राजनीतिक नियंत्रण स्थापित कर इसके बागी विधायकों का समर्थन हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं.

पीडीपी के कम से कम पांच विधायकों ने सार्वजनिक तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के खिलाफ बयान दिया था. बागी नेता इमरान अंसारी ने दो दिन पहले ही अलग मोर्चा बनाने की बात कही थी. उन्होंने पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस पर दिल्ली को ब्लैकमेल करने का आरोप भी लगाया था.

उल्‍लेखनीय है कि राज्‍य की 87 सदस्‍यीय विधानसभा में पीडीपी के 28, नेशनल कांफ्रेंस के 15, कांग्रेस के 12 और अन्‍य की सात सीटें हैं. राज्‍य में गठबंधन टूटने के बाद फिलहाल गवर्नर शासन लागू है. राज्‍य में बहुमत के लिए 44 विधायकों के समर्थन की दरकार है.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com