तूफान के कारण अब तक 65 से अधिक लोगों की मौत

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार टूडे

 तूफान ने 4 दिन के भीतर एक बार फिर अपना रौद्र रूप दिखाया। तूफान के कारण अब तक कम से कम 65 लोगों के मारे जाने की खबर है। सबसे ज्यादा 38 मौतें यूपी में हुई हैं। उधर, दिल्लीएनसीआर का मौसम रविवार की शाम चार बजतेबजते फिर बदल गया। अचानक तेज हवा के बाद धूल भरी आंधी चलने लगी। सफदरजंग में तो हवाओं की रफ्तार 109 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच गई। दिन में ही अंधेरा हो गया। दिल्ली, गुरुग्राम और नोएडा के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। दिल्लीएनसीआर में धूल भरी आंधी के बाद तेज बारिश होने लगी। आंधी तूफान के दौरान काले बादल आसमान में छा गए और दिन में ही अमावस्या की घनी काली रात जैसा अंधेरा छा गया। आंधी शुरू होते ही पूरे शहर में बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई। अलगअलग इलाकों में आंधी से पेड़ टूटने लगे। दिल्लीएनसीआर में धूल भरी आंधी और बारिश की वजह से करीब 70 उड़ानों के मार्ग बदलने पड़े। फ्लाइट्स की आपातकालीन लैंडिंग भी करानी पड़ी। आंधी तूफान की वजह से दिल्ली जाने वाली 9 फ्लाइट को लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर आपातकालीन लैंडिंग करानी पड़ी है। एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने खराब मौसम की वजह से इन फ्लाइट को दिल्ली में लैंड करने की अनुमति नहीं दी, इसलिए यह कदम उठाना पड़ा। वहीं, खराब मौसम के बाद मेट्रो की की द्वारकानोएडा ब्लू लाइन पर आधे घंटे तक मेट्रो सेवा बाधित रही। दिल्ली के आईपी एक्सटेंशन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का एक कार्यक्रम था। इसके लिए टेंट लगाए गए थे जो आंधी में उड़ गए। दिल्ली एऩसीआर में आंधी की चपेट में आकर कम से कम चार लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है। इनमें से दो गाजियाबाद में जबकि दो की दिल्ली में मौत हो गई।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com